DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘साइबर सेल’ की सक्रियता से जांच हुई आसान

पुलिस का साइबर सेल सक्रिय हो गया है। पिछले कुछ महीनों में इस सेल की मदद से पुलिस ने कई बड़े मामलें सुलझाने में सफलता अर्जित की है, लेकिन इसकी सक्रियता जिस तेजी से बढ़ी है। साइबर अपराधी भी उसी दर से सक्रिय हो गए है। नतीजतन आईटी एक्ट के मामले लगातार बढ़ रहे हैं।

गौरतलब है कि एक साल पहले तक पुलिस का साइबर सेल निष्क्रिय था। जिसके चलते बड़े मामलों को सुलझाने में पुलिस को दिक्कतें उठानी पड़ती थी। लेकिन पिछले कुछ महीनों में पुलिस ने इसी की मदद से कई बड़े मामलों को सुलझाया है। हाल में सीआईए भुपानी की टीम ने केवल मोबाइल फोन नंबर के आधार पर अपहृत एक साल के बच्चों व तीन अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार किया था। वे जिन नंबरों पर बार-बार बात करते थे। पुलिस ने उसी नंबर को सर्विलांस पर ले लिया था। उस नंबर पर जैसे ही अपहरणकर्ताओं ने दिल्ली के एक पीसीओ से फोन किया। पुलिस टीम उस पीसीओ का पता निकालकर वहां पहुंच गई। कुछ देर में घेरेबंदीकर उन्हें धरदबोचा। यह कोई पहला मामला नहीं था। इससे पहले पुलिस टीम ने फिरौती के लिए सराय ख्वाजा के एक अपहृत छात्र को इटावा से बरामद किया था। अपहरणकर्ता उसे छोड़ने के लिए एक करोड़ रुपए मांग रहे थे। लेकिन अपहरणकर्ताओं के मोबाइल नंबर की स्थिति के आधार पर पुलिस उनके पीछे पहुंच गई। जिससे बदमाशों को उसे छोड़कर भागना पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘साइबर सेल’ की सक्रियता से जांच हुई आसान