अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'निकाह से पहले लड़का-लड़की का साथ रहना हराम'

टेलीविजन कलाकार सहरीश खान और उनके कथित प्रेमी जहांगीर खान के परिवारों को आल इंडिया मुस्लिम त्योहार कमेटी की मजलिस-ए-शूरा ने मुस्लिम समाज से बाहर निकालने का निर्णय लिया है। सहरीश टीवी सीरियल 'प्रतिज्ञा' में रोली की भूमिका निभा रही हैं।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश की राजधानी की एक सड़क पर तीन अगस्त को टीवी सीरियल की कलाकार सहरीश खान और उनके कथित पुरुष मित्र जहांगीर खान के बीच मारपीट हुई थी। बाद में इस घटना का एमएमएस जारी हुआ।

घटना के बाद सहरीश ने जहांगीर को सिर्फ मित्र करार दिया है, जबकि जहांगीर का आरोप है कि उसके सहरीश से लिव-इन संबंध हैं।

जहांगीर का कहना है कि कई माह से मुंबई में दोनों साथ रह रहे हैं और जल्दी ही शादी करने वाले थे। वहीं सहरीश का कहना है कि उसका एमएमएस जबरिया बनाया गया है। वह यह स्वीकार करती हैं कि जहांगीर कुछ समय के लिए उनके साथ मुंबई में रहा है।

इस घटना के बाद शुक्रवार को ऑल इंडिया मुस्लिम त्योहार कमेटी की मजलिस-ए-शूरा ने बैठक कर सहरीश और जहांगीर के रवैए को इस्लाम के खिलाफ  माना है। कमेटी के ओशाफ  खुर्रम का कहना है कि बिना शादी के किसी लड़के और लड़की का एक साथ रहना हराम है इसीलिए उसने दोनों के परिवारों को समाज से बाहर निकालने का फैसला लिया है।

आल इंडिया मुस्लिम त्योहार कमेटी की मजलिस-ए-शूरा द्वारा समाज से निकाले जाने पर सहरीश ने कहा है कि यह निर्णय उसका पक्ष सुने बगैर ही लिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'निकाह से पहले लड़का-लड़की का साथ रहना हराम'