DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नई नौकरी

नई नौकरी में खुद को रमाना और उसके साथ ही नए शहर में व्यवस्था करना आसान नहीं होता। नई ऑफर स्वीकार करके नए शहर के लिए अपना सफर शुरू करने से पूर्व पूरी योजना इन बातों को अवश्य ध्यान रखें—
1. चुनाव करते समय नियुक्तिकर्ताओं का पहला प्रश्न होता है कि क्या आप दूसरे शहर जाने को तैयार हैं? नई नौकरी से सामंजस्य बिठाना आसान काम नहीं है। ऑफिस के अलावा एक नया सोशल नेटवर्क बनाना और उस स्थान विशेष की संस्कृति को समझना होता है। यदि आप अपने परिवार के साथ किसी दूसरे शहर में जा रहे हैं तो अपने साथ-साथ उनकी सही व्यवस्था को इंतजाम करना होगा। बेहतर होगा कि आप ऑफर लैटर स्वीकार करने से पहले एक बार क्षेत्र विशेष की जानकारी हासिल कर लें। 
2. विकास का पहलू: दूसरे शहर में जाने की योजना बनाते समय नए शहर में मौजूद विकास के अवसरों का भी आकलन करें और शहर विशेष में रहन-सहन के स्तर को जानें। ऐसा स्थान जो औद्योगिक गतिविधियों का हब है, वहां आपके करियर विकास की अच्छी संभावनाएं होंगी। हालांकि स्थानीय अर्थव्यवस्था के ट्रैंड्स को समझने की भी जरूरत है। अपने दीर्घकालीन करियर लक्ष्यों का आकलन करें और यह निर्णय करें कि दोनों विकल्पों में से आपके लिए कौन-सा बेहतर होगा।
3. नए करियर अवसरों के अलावा वेतन में बढ़ोतरी भी एक कारण है जिसके कारण लोग दूसरे शहरों में जाने का निर्णय लेते हैं। यहां यह समझने की जरूरत है कि आप नई नौकरी से कितनी आय अर्जित करेंगे और दूसरे शहर जाने, रहने और नए स्थान में अपने स्तर बनाए को रखने में आपका क्या खर्च आएगा? अपनी वित्तीय स्थिति का सही से आकलन करें और यह भी देखें कि वेतन में हुई बढ़ोतरी आपके खर्चो की तुलना में न्यायसंगत हो।
अपने स्तर पर सभी खर्चो का आकलन करने के बाद आप हायर करने जा रही कंपनी की ऑफर लैटर को स्वीकार करें। उम्मीदवार की काबिलियत और संस्थान में उसकी जरूरत को देखते हुए कई बार कंपनियां एक शहर से दूसरे शहर जाने के संबंध में होने वाले खर्च को रिलोकेशन पैकेज से पूरा करने कर देती हैं अथवा उसे बोनस आदि में शामिल करती हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नई नौकरी