DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिरण होते हैं कैसे-कैसे

दोस्तो, तुम लोगों ने जंगलों में हिरणों को उछलते-कूदते तो खूब देखा होगा, ज्यादातर लोग हिरण की एक या दो प्रजाति से ही परिचित होते हैं। लेकिन तुम्हें यह जानकर हैरानी होगी कि हिरणों की कई प्रजाति होती हैं और ये सब अलग-अलग स्थानों पर पाए जाते हैं। आओ, आज हम तुम्हें तरह-तरह के हिरणों से रूबरू कराते हैं।

हिरण प्राय: हिमालय पर्वत से 2500 से 4000 मीटर तक समुद्र तल से ऊंचे स्थानों पर रहते हैं। ये तिब्बत नेपाल, साइबेरिया, कोरिया आदि में पहाड़ी भागों में रहते हैं। हिरणों की टांगें फुर्ती से ऊंची-ऊंची पहाड़ी पर टिक जाती हैं, इनके पैर बर्फ में नहीं फंसते हैं और न ही फिसलते है। ये 15 से 20 मीटर तक छलांग लगाते हैं। इनके सुनने की क्षमता अधिक होती है। एक रोचक बात यह है कि नर मृग के पेट की खाल पर एक विशेष ग्रंथि होती है जिससे कस्तूरी निकलती है। इस कारण इसका नाम कस्तूरी मृग पड़ा है। एक मृग से एक औंस कस्तूरी  निकलती है। इसी कस्तूरी के लिए शिकारी इन्हें मार देते हैं।

चिंकारा जब अपनी आवाज निकालता है तो ऐसा लगता है, जैसे कोई छींक रहा हो। ये हिरण बीहड़ जंगलों में मिलते हैं। थोड़ी सी आहट पाते ही इनके कान खड़े हो जाते हैं। ये बार-बार सिर उठाकर देखते हैं।

चीतल मृग केवल भारत और श्रीलंका में पाए जाते हैं। ये हरे-भरे स्थानों पर रहना पसंद करते हैं। इनका रंग भूरा होता है और ऊपर सफेद धब्बे बने होते हैं। इन्हें 100 से 150 की संख्या में देखा जा सकता है। ये फल और पत्तियां बड़े चाव से खाते हैं।
चौसिंगा केवल भारत में ही पाये जाते हैं। ये हिमालय के तराई वाले क्षेत्र में और दक्षिण के पठार में अधिक पाये जाते हैं। ये जोड़े सींग वाले मृग होते हैं, इसलिए चौंसिंगा कहा जाता है। इनकी छलांग सबसे लंबी होती है।

बारहसिंगा हिरण सबसे अधिक जाना जाता है। सिक्किम का बारहसिंगा कश्मीरी के बारहसिंगा से कुछ मिलता-जुलता है। बोंगो हिरण मुख्यत: अफ्रीका में पाया जाता है। इनके शरीर में सादे रंग की कई धारियां होती हैं। धीरे-धीरे ये अफ्रीका के जंगलों से लुप्त होते जा रहे हैं। इनके नर और मादा दोनों के सींग होती हैं। सोते समय ये मृत सींगों के सहारे पेड़ो में लटक जाते हैं। शाखादार सींगो वाले हिरण नदियों और पहाड़ों में पाये जाते हैं। ये दो-चार की संख्या में होते हैं। काले हिरण सिर्फ भारत में पाए जाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हिरण होते हैं कैसे-कैसे