DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हमें राष्ट्रमंडल खेलों की मेजबानी नहीं करनी चाहिए थीः भूटिया

हमें राष्ट्रमंडल खेलों की मेजबानी नहीं करनी चाहिए थीः भूटिया

राष्ट्रमंडल खेलों में चल रहे विवादों से दुखी भारतीय फुटबाल कप्तान बाईचुंग भूटिया को लगता है कि भारत को इन खेलों की मेजबानी नहीं करना चाहिए थी और देश इनकी मेजबानी के बिना ही सही था।

उन्होंने कहा कि इस तरह के विवादों ने तीन से 14 अक्टूबर को दिल्ली में होने वाले खेलों की तैयारियों को करारा झटका लगा है। अभी तक के शायद सबसे महंगे राष्ट्रमंडल खेलों के स्टेडियम तैयार होने में काफी देरी हो रही है और अब इनमें काफी बड़े स्तर पर भ्रष्टाचार के आरोप भी लग रहे हैं। भूटिया ने कहा कि भारत में कभी भी इस स्तर के खेलों की मेजबानी के लिए ढांचा नहीं था।

उन्होंने पत्रकारों से कहा कि हमें इन खेलों की मेजबानी का फैसला नहीं करना चाहिए था। ढांचे तैयार नहीं हैं। हालत देखो क्या है, स्टेडियम पूरी तरह तैयार नहीं हैं। हाकी के लिए भी भारत में ज्यादा एस्ट्रोटर्फ मौजूद नहीं हैं। मलेशिया जैसा देश भी खेलों की मेजबानी के लिए सही है। हमें खेलों की दावेदारी के लिए बोली नहीं लगानी चाहिए थी।

भूटिया क्वींस बेटन रिले का हिस्सा थे और उनसे यह पूछे जाने पर कि उन्होंने उस समय अपने विचार क्यों नहीं प्रकट किए तो उन्होंने इस अनुभवी फुटबालर ने कहा कि देश ने इन खेलों की मेजबानी का फैसला कर लिया है तो मैं इन्हें सफल देखना चाहता हूं। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि उद्घाटन और समापन समारोह भी फिल्म फेयर पुरस्कार कार्यक्रम न बन जाए। मैं इसमें अपनी संस्कृति दिखाना चाहता हूं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हमें राष्ट्रमंडल खेलों की मेजबानी नहीं करनी चाहिए थीः भूटिया