DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहवाग के दम पर भारत ने दिया करारा जवाब

सहवाग के दम पर भारत ने दिया करारा जवाब

बेजोड़ फार्म में चल रहे वीरेंद्र सहवाग की एक और नफासत भरी पारी की मदद से भारत ने तीसरे और अंतिम टेस्ट के दूसरे दिन दो विकेट पर 180 रन बनाकर श्रीलंका को करारा जवाब दिया।

सहवाग ने 87 गेंद में नाबाद 97 रन की ताबड़तोड़ पारी खेलने के अलावा सचिन तेंदुलकर (नाबाद 40) के साथ तीसरे विकेट के लिए नाबाद 88 रन जोड़कर भारत को मजबूत स्थिति में पहुंचाया। सहवाग ने 52 रन के स्कोर पर मिले जीवनदान का पूरा फायदा उठाते हुए अपनी पारी में 17 चौके जड़े।

सहवाग इस पारी के दौरान 70 रन बनाते ही टेस्ट क्रिकेट में सात हजार रन पूरे करने वाले दुनिया के 38वें और छठे भारतीय बल्लेबाज बने। उन्होंने इस दौरान टेस्ट क्रिकेट में 1000 चौकों को आंकड़ा भी छुआ। वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले 16वें बल्लेबाज हैं।

इससे पहले श्रीलंका ने थिलन समरवीरा के नाबाद 137 रन की बदौलत 425 रन बनाए। भारत अब भी श्रीलंका से पहली पारी में 245 रन से पिछड़ रहा है जबकि उसके आठ विकेट शेष हैं।

सुबह भारतीय गेंदबाजों ने भी अच्छा प्रदर्शन किया। ओझा ने 115 रन देकर चार जबकि ईशांत ने 72 रन देकर तीन विकेट चटकाए। लेग स्पिनर अमित मिश्रा और कामचलाऊ स्पिनर सहवाग ने एक-एक विकेट चटकाया जिससे श्रीलंका ने अंतिम छह विकेट 51 ओवर में 132 रन जोड़कर गंवा दिए।

सहवाग ने चनाका वेलेगेदारा पर लगातार तीन चौकों के साथ खाता खोला और फिर खुलकर बल्लेबाजी की। उन्होंने मुरली विजय (14) के साथ पहले विकेट के लिए 49 रन जोड़कर टीम को सतर्क शुरुआत दिलाई। विजय ने भी वेलेगेदारा पर दो चौके जड़े लेकिन लसिथ मलिंगा ने उन्हें एक्स्ट्रा कवर पर अजंता मेंडिस के हाथों कैच कराकर भारत को पहला झटका दिया।

विजय के आउट होने पर क्रीज पर उतरे राहुल द्रविड़ ने मलिंगा के अगले ओवर में लगातार दो चौके जड़कर अच्छी शुरुआत की। सहवाग ने इस बीच वेलेगेदारा की गेंद को स्लिप के ऊपर से चार रन के लिए भेजकर 44 गेंद में 11 चौकों की मदद से अर्धशतक पूरा किया। द्रविड़ ने भी इसी ओवर की अंतिम दो गेंदों को चार रन के लिए भेजा।

द्रविड़ जब लय में लग रहे थे तब एंजेलो मैथ्यूज ने अपने पहले ओवर में ही उन्हें पगबाधा आउट कर दिया। भारतीय बल्लेबाज मैथ्यूज की सीधी गेंद को चूक गया और अंपायर ने अंगुली उठाने में कोई हिचक नहीं दिखाई। मैथ्यूज को अगले ओवर में सहवाग को पवेलियन भेजने का बेहतरीन मौका मिला लेकिन यह तेज गेंदबाज अपनी ही गेंद पर बेहद आसान कैच लपकने में नाकाम रहा।

सहवाग ने इसके बाद तेंदुलकर के साथ नाबाद साझेदारी करके श्रीलंका को एक और सफलता से महरूम रखा। दोनों बल्लेबाजों ने संयम के साथ खेलते हुए मेजबान टीम के गेंदबाजों पर विकेट के चारों तरफ रन बटोरे। अपने 169वें टेस्ट के साथ टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक मैच खेलने वाले क्रिकेटर बने तेंदुलकर 66 गेंद की अपनी पारी में अब तक पांच चौके जड़ चुके हैं।

इससे पहले श्रीलंका की ओर से थिलन समरवीरा के अलावा मैथ्यूज ने 45 रन की उपयोगी पारी खेली। समरवीरा ने 288 गेंद का सामना करते हुए 12 चौके और एक छक्का मारा। मेजबान टीम के निचले क्रम के पांच बल्लेबाज दोहरे अंक तक पहुंचने में विफल रहे जिससे श्रीलंका की पारी लंच के बाद 425 रन पर सिमट गई।

बुधवार सुबह चार विकेट पर 293 रन से आगे खेलने उतरे श्रीलंका ने सुबह के सत्र में मैथ्यूज और प्रसन्ना जयवर्धने (9) के रूप में दो विकेट गंवाए। दोनों को ओझा ने पगबाधा आउट किया। समरवीरा ने शतक के साथ पारी को संभाला। उन्होंने 229 गेंद में 10 चौकों की मदद से 100 रन का आंकड़ा छुआ।

चाय के विश्राम के बाद सबसे पहले सूरज रणदीव (8) पवेलियन लौटे जिन्होंने सहवाग की गेंद पर पहली स्लिप में राहुल द्रविड़ को कैच थमाया। लसिथ मलिंगा (4) इसके बाद अमित मिश्रा की गेंद पर उन्हीं को कैच दे बैठे। अजंता मेंडिस (3) और समरवीरा ने नौवें विकेट के लिए 35 रन जोड़कर भारत के इंतजार को बढ़ाया लेकिन ईशांत शर्मा ने एक ही ओवर में दो विकेट चटकाकर श्रीलंका की पारी को समेट दिया। ईशांत ने मेंडिस को गली में सुरैश रैना के हाथों कैच आउट कराने के बाद चनाका वेलेगेदारा को विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के हाथों कैच कराया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सहवाग के दम पर भारत ने दिया करारा जवाब