अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांवड़िया शिविरों पर महंगाई डायन की छाया

महंगाई डायन की छाया इस बार कावंड़िया शिविरों पर पड़ी है। खाद्य पदार्थो की बढ़ती कीमत और टेंट हाउस के किराए में बेतहाश वृद्धि ने धमार्थ के कामों पर भी अकुंश लगा दिया है। इसकी एक झलक देखनी हो तो राष्ट्रीय राजमार्ग की ओर रुख कर लें। सावन का महीना चल रहा है कावंड़ियों की सेवा के लिए लगे हैं केवल चार शिविर।

शहर में तो इस बार शिविर ही नदारद हैं। पिछली साल की तुलना करें, तो इस बार काफी कम संख्या में धार्मिक और सामाजिक संगठन कांवड़ियों की सेवा कर पुण्य कमाने के लिए आगे आए। इसकी कमी कावंड़ियों को भी खल रही है। इसे देखते हुए कावंड़िया खाने-पीने से लेकर सभी मूलभूत सुविधा इकट्ठा कर यात्रा पूरी कर रहे हैं। भूख और थकान मिटाने के लिए होटलों का भी सहारा लिया जा रहा है। सावन शुरु होते ही कावंड़ियों का जत्था हरिद्वार गंगाजल के लिए रवाना हो जाता था। इस बार इसकी संख्या में भी कमी आई है। हर हर महादेव और ऊं नम: शिवाय की गूंजे से गुजेमान रहने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक दुक्का कावंड़िया दिखते हैं। बदरपुर बार्डर से फरीदाबाद में प्रवेश करते ही हर सौ कदम पर विभिन्न सामाजिक और धार्मिक संगठनों का शिविर लगा रहता था। इस ऐसा नहीं है। बदरपुर बार्डर से बल्लभगढ़ तक बामुश्किल इस बार चार शिविर लगे हुए हैं। इसमें ज्यादातर मंदिरों में लगाया है।
--------------------------------
सेक्टर 20बी हनुमान मंदिर में लगे शिविर में आराम फरमा रहे कावंड़िया सुरेश शर्मा: इस बार शिविरों की संख्या कम है। महंगाई की छाया यहां भी दिख रही है। न केवल फरीदाबाद बल्कि दिल्ली में इसकी संख्या काफी कम है। पहले एक किलोमीटर के दायरे में तीन चार शिविर मिल जाते थे। इस बार ऐसा नहीं है।
------------------
दिल्ली-मथुरा रोड पर शिविर लगाने वाले नवयुवक संघ के सचिव दिनेश: इस बार समय पर पैसा का व्यवस्था नहीं होने से शिविर नहीं लगाया जा सका है। पानी व शरबत कांवड़ियों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।
------------------------
शिविरों में परोसे जाने वाले खाद्य पदार्थो पर एक नजर

-थकान दूर करने के लिए दूध, सूखे मेव आदि दिए जाते हैं
-पेट भरने के लिए रोटी, पूरी के साथ पनीर, शीताफल, आलू, दाल आदि
-मिष्ठान में मूंग व सूजी का हल्वा, खीर आदि
-फलों में केला, सेब, अनार, अमरूद, अनानायास, आम आदि
---------------------------
यहां लगे हैं शिविर
-दिल्ली मथुरा रोड पर सराय ख्वाजा
-ओल्ड फरीदाबाद
-सेक्टर-20 बी
-बाइपास रोड

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांवड़िया शिविरों पर महंगाई डायन की छाया