अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पृथ्वी से टकरा सकती हैं सौर सुनामियां : वैज्ञानिक

पृथ्वी से टकरा सकती हैं सौर सुनामियां : वैज्ञानिक

सूर्य के कोरोना से अस्वाभाविक चुंबकीय लपटें निकल रही हैं जिससे विद्युत आवेशित बादल हमारी पृथ्वी की ओर बढ़ने लगे हैं और वैज्ञानिकों ने धरती पर सौर सुनामी आने की चेतावनी दी है।

नासा के सोलर डायनेमिक्स आब्जरवेटरी (एसडीओ) सहित कई उपग्रहों ने रविवार को सूर्य के सनस्पाट 1092 से छोटी सौर लपटें रिकार्ड की हैं जो आकार में पृथ्वी के बराबर हैं।

उपग्रहों ने ठंडी गैसों के बड़े बड़े तंतु भी रिकार्ड किये हैं जो सूर्य के उत्तरी गोलार्ध में फैले हुए हैं। अंतरिक्ष में इसमें धमाका भी हुआ है।

न्यू साइंटिस्ट ने खबर दी है कि यह सूर्य के कोरोना का हिस्सा है। इस धमाके को कोरोनल विस्फोट कहा जा रहा है। यह अविश्वसनीय रूप से नौ करोड़ 30 लाख मील तक फैल चुकी है। यह सौर सुनामी पृथ्वी की ओर बहुत तेजी से बढ़ रही हैं।

इसमें कहा गया है कि जब ये उच्छंखल बादल टकरायेंगे तो वे कभी भी ध्रुव के उपर आकाश में तेज रौशनी उत्पन्न कर सकते हैं और ये उपग्रहों के लिए खतरा उत्पन्न कर सकते हैं। हालांकि गंभीर रूप से खतरा नहीं है।

लाखों किलोमीटर की दूरी पर होने के बावजूद लगता है कि तंतु की तरंगें यात्रा कर रही हैं। एसडीओ की तस्वीरों का अध्ययन करने वाले खगोलविज्ञानियों ने ऐसी तरंगों के संकेत दिए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पृथ्वी से टकरा सकती हैं सौर सुनामियां : वैज्ञानिक