DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नवजात बच्चों को सर्जरी द्वारा अलग किया

इलाहाबाद के एक अस्पताल में अनूठी सर्जरी के द्वारा दो नवजात जुडवां बच्चों को अलग किया गया। इन दोनों में से एक बच्चा दूसरे बच्चों के पेट से परजीवी की तरह चिपका हुआ था।

राज नर्सिंग होम में की गई इस सर्जरी में डॉक्टरों के दल का नेतृत्व करने वाले सर्जन धनेष अग्रहारी कहते हैं कि पास के मिर्जापुर जिले के एक गरीब मजदूर के घर में जन्मे इन बच्चों का इलाज करने के लिए हम तैयार हुए। यह वास्तव में काफी मुश्किल भरा काम था। इस सर्जरी को करने में हमें पूरे पांच घंटे का समय लगा। यह सर्जरी शनिवार रात से शुरू हुई और रविवार तड़के खत्म हुई। बच्चों को अब जीवन रक्षक प्रणाली से हटा दिया गया है और उसके बचने की पूरी संभावना है।
   
बच्चों की इस अदभुत बीमारी के बारे में अग्रगाही कहते हैं कि एसिम्रिटीक पैरासिटिक कोज्वाइंड टवीन्स अपने आप में एक दुर्लभ मामला है। पांच लाख में से सिर्फ एक ही शिशु ऐसा पैदा होता है।
   
बच्चों के पिता वीरेंद्र कुमार कहते हैं कि जब मेरी पत्नी ने जुड़वां बच्चों को जन्म दिया तो हम यह नहीं समझ पाए कि यह वरदान है या अभिशाप। एक तरफ तो हमें खुशी थी कि हमारे दो बच्चों हुए हैं और दोनों लड़के हैं लेकिन दूसरी तरफ दोनों का शरीर एक दूसरे से जुड़े हुए थे। इलाज के खर्च के बारे में कुमार ने कहा कि डॉक्टरों ने उनसे ईलाज के लिए एक पैसा भी नहीं मांगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नवजात बच्चों को सर्जरी द्वारा अलग किया