DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीयता के खिलाफ है पब कल्चर : रामदास

मेंगलुर में पब पर हमला कर वहां युवक-युवतियों के पीटने की घटना के बाद इसके विरोध में उतर नेताओं के सुर में सुर मिलाते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री अंबुमणि रामदास ने शुक्रवार को कहा कि पब कल्चर भारतीयता के विरूद्ध है। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित राष्ट्रीय अल्कोहल नीति इसे रोकने में कामयाब होगी। रामदास ने यहां प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘हम उन घटनाओं की सख्त निंदा करते हैं जिसमें महिलाओं पर हमले किए जाते हैं। लेकिन पब कल्चर को तत्काल रोका जाना चाहिए। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि देश का युवा वर्ग बड़ी संख्या में शराब पीने लगा है।’ शराब पीकर युवाओं द्वारा गाड़ी चलाने और दुर्घटना होने को पब कल्चर की शराबखोरी से जोड़ते हुए उन्होंने कहा, ‘भारत में 40 फीसदी सड़क दुर्घटना नशे में गाड़ी चलाने के कारण होती हैं।’ उन्होंने कहा कि ये युवा न केवल अपने जीवन को संकट में डालते हैं बल्कि सड़कों पर दूसरों के लिए भी खतरा पैदा कर देते हैं। उन्होंने कहा कि बहुत से युवा 20 साल के आसपास ही नशाखोरी के कारण सड़क दुर्घटनाओं में मार जाते हैं, जो उनके लिए बहुत ही उत्पादक उम्र होती है। उन्होंने कहा, ‘यह हमारी संस्कृति नहीं है। अगर इस तरह की संस्कृति जारी रही तो मैं नहीं समझता कि भारत विकास कर पाएगा।’ उन्होंने कहा कि हाल के वर्षो में युवाओं का बड़ा हिस्सा शराब पीने लगा है। एक हालिया सव्रे में खुलासा हुआ है कि युवाओं का 60 फीसदी शराब पीने लगा है। सेंट्रल कौंसिल ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर की मीटिंग के बाद मीडिया से मुखातिब मंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय अल्कोहल नीति तीन से छह माह में बन जाएगी। कहानी में आया ट्विस्ट : महिला आयोग ने पब मालिक को दोषी ठहराया। मेंगलुर कांड की जांच के लिए राष्ट्रीय महिला आयोग की तीन सदस्यीय टीम ने घटनास्थल का दौरा करने के बाद अपनी रिपोर्ट में इस घटना के लिए पब मालिक को ही दोषी ठहरा दिया है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारतीयता के खिलाफ है पब कल्चर : रामदास