अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीनगर में देखते ही गोली मारने के आदेश

श्रीनगर में देखते ही गोली मारने के आदेश

श्रीनगर में बढ़ती हिंसा के बीच कर्फ्यूग्रस्त क्षेत्रों में पुलिस ने प्रतिबंध का उल्लंघन करने वालों को देखते ही गोली मारने के आदेश जारी कर दिए हैं जबकि कर्फ्यू तोड़ने और पुलिसकर्मियों के साथ संघर्ष करने वाले हिंसक प्रदर्शनकारियों पर सुरक्षाबलों की गोलीबारी में मंगलवार को तीन और लोगों की मौत हो गई।

पुलिस ने कहा कि शहर के डल गेट, रेसिडेंसी रोड और आल इंडिया रेडियो चौराहे के इलाकों में सार्वजनिक उद्घोषणा प्रणाली के माध्यम से देखते ही गोली मारने के आदेश की घोषणा की गई। पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने श्रीनगर, बड़गाम, बांदीपुरा, अवंतीपुरा, कुलगाम और बारामुला में कर्फ्यू की अवहेलना की और सुरक्षाकर्मियों पर जमकर पथराव किया। उन्होंने अनेक स्थानों पर सार्वजनिक और पुलिस संपत्तियों को अपने हमलों का निशाना बनाया।

प्रवक्ता ने कहा कि सुरक्षाबलों को कुछ स्थानों पर आत्मरक्षा और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए गोली चलानी पड़ी जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई और अनेक पुलिसकर्मियों के साथ साथ सीआरपीएफ के जवान घायल हो गए।

पुलिस ने कहा कि कमरवाड़ी के निवासियों ने एक जुलूस निकाला। पुलिस और अर्धसैनिक बल के जवानों ने उन्हें तितर-बितर करने की कोशिश की लेकिन भीड़ के नहीं हटने पर मजबूरन चलाई गई गोली में 25 वर्षीय मेहराज अहमद लोन की मौत हो गई जबकि तीन अन्य घायल हो गए। उन्होंने कहा कि ईदगाह इलाके में एक अन्य घटना में सुरक्षाबलों ने हिंसक भीड़ पर गोली चलाई जिसमें अनीस खुर्शीद की मौत हो गई।

पुलिस ने कहा कि कुलगाम में भी पुलिस की गोलीबारी में एक अज्ञात व्यक्ति की मौत हो गई। उन्होंने कहा कि इस बीच एक अगस्त को पुलिस की गोलीबारी में घायल हुए रियाज अहमद बट ने एसकेआईएमएस अस्पताल में दम तोड़ दिया। चार और लोगों की मौत के साथ ही शुक्रवार से अब तक मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 26 हो गई है।

पुलिस ने कहा कि बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों ने जामा मस्जिद से ईदगाह की ओर एक जुलूस निकाला। एक अन्य समूह कानीकदल से रवाना हुआ। करफली मोहल्ला, फतेहकदल में भीड़ के हिंसक हो उठने के बाद पुलिस को मजबूरन गोली चलानी पड़ी। हालांकि इस गोलीबारी में किसी के हताहत होने की फिलहाल कोई खबर नहीं है।

बाद में प्रदर्शनकारियों ने निवासियों के साथ नवा बाजार, काचगरी, फतेहकदल और लाल बाजार में इकट्ठा होने की कोशिश की लेकिन उन्हें सुरक्षाकर्मियों ने वहां से हटा दिया।
 पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने सोपोर के बोमी में प्रवासियों के दो घरों और नायब तहसीलदार के कार्यालय को आग लगा दी। बोमी स्थित पुलिस चौकी पर भी हमला किया गया।

प्रवक्ता ने कहा कि कुलगाम के फ्रिसल शेरपुरा में उग्र भीड़ ने एक पुलिस चौकी को आग लगा दी गई जबकि एक पुलिसकर्मी और विशेष पुलिस अधिकारी के घर को आग के हवाले कर दिया गया। चेतावनी देने के बावजूद भीड़ के पथराव नहीं रोकने पर सुरक्षाकर्मियों ने आंसू गैस के गोलों और लाठीचार्ज का सहारा लिया। अनेक लोगों ने कर्फ्यू आदेश की अवमानना करते हुए पुराने श्रीनगर के अनेक इलाकों में सड़कों पर नमाज अदा की। घाटी के सभी दस जिलों में फिलहाल कर्प्यू लागू है।

घाटी में सुरक्षाकर्मियों की गोलीबारी के कारण लोगों की मौत का विरोध जम्मू के रामबन, डोडा और किस्तवाड़ इलाकों में भी फैल गया है जहां लोगों ने सरकार विरोधी नारे लगाए और जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को बंद कर दिया।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कुछ लोग बनिहाल में राजमार्ग पर इकट्ठा हो गए और उन्होंने वहां प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने राजमार्ग को बंद कर दिया और कुछ वाहनों पर पथराव किया जिससे यातायात रुक गया। बंद के कारण राजमार्ग पर विभिन्न स्थानों पर सैकड़ों वाहन फंस गए।

इस बीच, बदलते तनावपूर्ण घटनाक्रम में केंद्र सरकार ने घाटी में करीब दो हजार अर्धसैनिक बलों को भेजने का फैसला किया है जबकि राज्य में पहले से मौजूद तीन हजार दो सौ जवानों का तनावग्रस्त इलाके में तैनात किया जाएगा। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार केंद्र द्वारा अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती का फैसला जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के निवेदन पर किया गया है जिसमें अब्दुल्ला ने केंद्र से घाटी की समस्या के समाधान के लिए मदद की अपील की थी।

उन्होंने बताया कि केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की 19 कंपनियां (1900 जवान) एक दो दिन में राज्य में भेज दी जाएंगी जबकि पहले से राज्य में तैनात बत्तीस कंपनियों की कश्मीर के तनावग्रस्त इलाके में फिर से तैनाती की जाएगी। पुलिस ने बताया कि सोमवार को भीड़ को काबू में करने के लिए सुरक्षा बलों द्वारा की गई गोलीबारी में सात लोग मारे गए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:श्रीनगर में देखते ही गोली मारने के आदेश