अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्ट्रीट लाइट धांधली, एमसीडी अधिकारियों पर मामला दर्ज

स्ट्रीट लाइट धांधली, एमसीडी अधिकारियों पर मामला दर्ज

सीबीआई ने राष्ट्रमंडल खेलों के पहले एमसीडी द्वारा हाथ में ली गई एक स्ट्रीट लाइट परियोजना में कथित अनियमितताओं पर एमसीडी के कुछ अधिकारियों और एक निजी फर्म के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम समेत कई धाराओं के तहत लगभग तीन सप्ताह पहले मामला दर्ज किया गया। केंद्रीय सतर्कता आयोग ने सीबीआई से कहा था कि वह राष्ट्रमंडल खेलों के लिए जारी की गई करोड़ों रुपये की निविदा में अनियमितता के संबंध में एमसीडी के अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज करे, जिसके बाद एजेंसी का यह कदम सामने आया है।

सीबीआई सूत्रों ने बताया कि शहर की लगभग 105 किमी लंबी सड़कों को रोशन करने के लिए स्ट्रीट लाइट की परियोजना सिर्फ राष्ट्रमंडल खेलों के लिए नहीं थी, लेकिन इसे खेल शुरू होने के पहले पूरा होना था।

सूत्रों ने आरोप लगाया कि जिस ठेकेदार (निजी फर्म) को परियोजना के लिए सबसे कम राशि लगाकर यह काम मिला, उसे बाद में लाभ कमाने के लिए राशि बदलने की अनुमति दे दी गई। यह निविदा संबंधी दस्तावेजों में हेर-फेर करके किया गया।

हालांकि यह अब तक पता नहीं चल सका है कि ठेकेदार ने कितना लाभ कमाया, लेकिन अधिकारियों का मानना है कि यह राशि करोड़ों रुपए की हो सकती है।

केंद्रीय सर्तकता आयोग (सीवीसी) को राजधानी में राष्ट्रमंडल खेलों से जुड़े निर्माण कार्य में कई अनियमितताएं मिली थीं, जिनमें बोली लगाने वालों को ऊंचे दामों पर काम सौंपना, घटिया स्तर का निर्माण और अयोग्य एजेंसियों को काम सौंपना जैसी धांधलियां भी शामिल थीं।

आयोग की मुख्य तकनीकी परीक्षण शाखा ने जो आकलन रिपोर्ट पेश की थी, उसमें लगभग 16 परियोजनाओं में भ्रष्टाचार समेत प्रक्रियागत उल्लंघन के कई मामले शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्ट्रीट लाइट धांधली, एमसीडी अधिकारियों पर मामला दर्ज