DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'विकीलीक्स' के बाद अब सूचना एकत्र करना होगा कठिन

'विकीलीक्स' के बाद अब सूचना एकत्र करना होगा कठिन

सीआईए के एक पूर्व अधिकारी का मानना है कि विकीलीक्स ने अफगानिस्तान युद्ध से जुड़े जो खुलासे किए हैं, उसके बाद अब युद्ध प्रभावित देश में खुफिया सूचनाएं एकत्रित करना और कठिन हो जाएगा।

सीआईए के एक पूर्व अधिकारी और वाशिंगटन आधारित बौद्धिक संगठन ब्रूकिंग्स इंस्टीट्यूट से संबद्ध ब्रूस रीडल ने कहा कि अफगानिस्तान को देखते हुए, इस पूरी कहानी से यह संदेश फैला है कि अगर आप किसी अमेरिकी नागरिक को कुछ बताएंगे, तो यह कहीं किसी कंप्यूटर पर आपके नाम से प्रदर्शित हो जाएगा और तालिबान आप तक पहुंच बना लेगा।

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को अफगान नीति बनाने में मदद करने वाले रीडल ने कहा कि इसके बाद अफगानिस्तान में खुफिया सूचनाएं एकत्रित करना और कठिन हो जाएगा। इसके बाद सहयोगियों के बीच साझेदारी में भी कठिनाई आएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'विकीलीक्स' के बाद अब सूचना एकत्र करना होगा कठिन