DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जदयू की झारखंड को अकालग्रस्त क्षेत्र घोषित करने की मांग

जनता दल यूनाईटेड ने झारखंड को अकालग्रस्त क्षेत्र घोषित करने, झारखंड लोकसेवा आयोग नियुक्ति में घोटाले के आरोपियों को अविलंब जेल भेजने तथा महंगाई पर नियंत्रण लगाने समेत अन्य मांगों को लेकर सोमवार को राजभवन के सामने धरना दिया।

जदयू के प्रदेश अध्यक्ष जलेश्वर महतों ने इस अवसर पर कहा कि सावन माह तक 90 प्रतिशत रोपनी होनी चाहिए थी लेकिन अभी तक मात्र दो प्रतिशत ही रोपनी हो पाई है, इसलिए राज्यपाल राज्य को तुरंत अकालग्रस्त क्षेत्र घोषित कर प्रदेश में राहत कार्य चलानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष की बीमा राशि अब तक किसानो को नहीं मिली है इसलिए सरकार पिछले वर्ष और इस वर्ष की फसल बीमा राशि का भुगतान करें। महतों ने कहा कि झारखंड लोकसेवा आयोग नियुक्ति घोटाले में दोषी लोग अब तक छुट्टे सांढ की तरह घूम रहे है और कांग्रेस पार्टी दोषियों को बचाने के लिए मामले को लंबा खींच रही है।

उन्होंने कहा कि अविलंब दोषियों को जेल भेजा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब-जब देश में कांग्रेस की सरकार आई है तब-तब महंगाई लाई है और इस महंगाई से आम आदमी बेहाल है। उन्होने कहा कि सरकार इन मुद्दो पर ध्यान नही देगी तो पूरे प्रदेश में जिला और प्रखंड स्तर पर आंदोलन किया जाएगा।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि झारखंड में अब सरकार का गठन नहीं बल्कि चुनाव होना चाहिए और इसकेलिए विधानसभा को भंग किया जाना चाहिए। धरना में महतों के अलावा कृष्णानंद झा, रामचन्द्र केशरी, धनंजय सिंह, रामस्वरुप यादव, आफताव जमील, संजय कुमार सिंह समेत अन्य नेता मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जदयू की झारखंड को अकालग्रस्त क्षेत्र घोषित करने की मांग