DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कॅरियर की सही दिशा

बड़े हो कर क्या बनोगे? किसी बच्चों से यह प्रश्न करें तो उत्तर तपाक से मिलेगा - पाइलट, क्रिकेटर, मिस इंडिया, मॉडल, एअर होस्टेस इत्यादि। पर जैसे-जैसे बड़े होते हैं तो रुचियां बदलने लगती हैं। यही कारण है कि बड़े पैमाने पर युवा इस कठिनाई से गुजर रहे होते हैं कि आखिर वे क्या बनना चाहते हैं?

मिथक : यदि अभी तक मेरे पास करियर लक्ष्य नहीं है तो मैं गया!
ऐसा नहीं है। यद्यपि ऐसा भी होता है कि कई लोगों को कक्षा दो से ही पता होता है कि उन्हें डॉक्टर, इंजीनियर या आईएएस बनना है। हमारी सोच, हमारी अभिरुचियां और हमारे लिए करियर के अवसर समय के साथ विकसित होते हैं। जैसे जैसे हम दुनिया देखते हैं हमारा दृष्टिकोण विस्तृत होता है और हमारी अपने बारे में तथा दुनिया के बारे में समझ पक्की बनती है।

अपनी रुचियां, अपनी पसंद-नापसंद व अपनी क्षमताओं को जानें। यह भी समझों कि आपको क्या करना अच्छा लगता है और किस प्रकार की चुनौतियों में आप अपना सर्वश्रेष्ठ दे पाते हैं। इससे यह निर्धारित करें कि किस प्रकार का करियर आपके अनुकूल है। बाकी बारीकियों को समय के साथ खुद-ब-खुद सामने आने दें।

उदाहरण के लिए यदि आप यह जानते हैं कि आपको शारीरिक रूप से सक्रिय, रोमांच और साहस से भरपूर काम अच्छे लगते हैं तो इतना काफी है। आप फौज में जाएंगे या वायु सेना में, इन्फेंट्री में जाएंगे या सिग्नल्स में, यह निर्णय बाद के लिए छोड़ दें।

मिथक : कोई विशेषज्ञ मुझे राह दिखाएगा
कोई भी विशेषज्ञ यह निर्धारित नहीं कर सकता कि आपके लिए सर्वश्रेष्ठ क्या है - फिर चाहे वह एक करियर सलाहकार या फिर आपके अत्यधिक सफल दूर के चाचा या मामा जी भी क्यों न हों।

विशेषज्ञों का महत्व अवश्य है, पर वह इतना ही बता सकते हैं कि किस करियर में क्या होता है और किसी भी करियर विशेष से आपकी अपेक्षाएं क्या होनी चाहिए।

स्वयं को जानें, अपने गुण और दोषों को जानें, अपने विकल्पों के जानें और फिर अपना निर्णय स्वयं लें। आपको ही इस निर्णय के साथ जीवन भर रहना होगा और यह अत्यावश्यक है कि आपका चुना हुआ करियर आपकी आतंरिक धुन के साथ एक लय में हो।

मिथक : अमुक क्षेत्र हॉट है, इसलिए मैं इसी में करियर बनाऊंगा
आप करियर में कितना अच्छा करेंगे यह इस बात से निर्धारित होता है कि आपके अंतरतम को वह कितना जागृत करता है, न कि वह कितना हॉट है या कितने लोग उसे चुन रहे हैं। आप अवश्य ऐसे क्षेत्र में नहीं फंसना चाहेंगे जहां अवसर सिकुड़ रहे हों, पर उसकी लोकप्रियता को एकमात्र पैमाना न बनाएं। उन विकल्पों को देखें जो आपको अच्छे लगते हैं और उनमें से वह चुनें जिसमें सर्वाधिक अवसर हों।

मिथक : भारी वेतन मतलब अपार खुशियां
पैसा आवश्यक है और जो भी आपसे कुछ और कहता है वह सच नहीं बोल रहा होता। परंतु करियर पैसे से भी आगे बहुत कुछ होता है। यदि आपको अपना काम अच्छा लगता है तो आप के पास अच्छा-खासा पैसा खुद-ब-खुद आ जायेगा। शुरुआत में वेतन को ही अपने निर्णय की सबसे बड़ी वजह न बनने दें - काम के प्रति अपने उत्साह और अपनी रुचि को मापदंड बनाएं।

पैसा हमेशा उत्कृष्टता का अनुचर है, उसके पीछे चलता है और किसी भी क्षेत्र में आप तब तक उत्कृष्ट नहीं बन सकते जब तक आपने उसका चुनाव गलत कारणों की वजह से किया है। वह करें जिससे आपको खुशी मिलती है और याद रखें कि खुशी-खुशी काम करने से ही पैसा बनता है।

मिथक : मेरा दोस्त जो कर रहा है तो मैं भी वही करूंगा
भले ही आपके और आपके मित्र में बड़ी समानता हो, भले ही आपको एक जैसे गाने, एक जैसी फिल्में अच्छी लगती हों और भले ही कॉलेज में आपका भावनात्मक और बौद्धिक रुझान एक सा रहा हो, आप फिर भी दो अलग-अलग शख्सियतें हैं। अपनी जमीन तलाशने का प्रयास करें, अपने जीवन का गीत तलाशें क्योंकि तभी आप उसे अच्छे से गा भी पाएंगे और उसका आनंद भी ले पाएंगे।

मिथक :किसी नए करियर से मेरी पुरानी शिक्षा व्यर्थ जाएगी
यह कुछ इस प्रकार की दलील है कि यदि आपको एम बी ए फाइनेंस करना था तो फिर इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग क्यों की? किसी भी समय पर हम अपने ज्ञान, कौशल और अनुभवों का जमा जोड़ ही होते हैं। आपकी कोई भी शिक्षा, कोई भी अनुभव आप से कभी अलग नहीं होता। भले ही आप ऐसे क्षेत्र में काम कर रहे हों जहां प्रकट रूप से आपकी पुरानी शिक्षा का कोई उपयोग न रहा हो, आप फिर भी उन चीजों का उपयोग कर रहे होते हैं जो आपने पहले सीखी थीं। इंजीनियरिंग और एम बी ए के सवाल को फिर देखें तो आपकी इंजीनियरिंग की शिक्षा आपको एम बी ए में अधिक तार्किक ढंग से सोचने में सहायता करती है। अपनी पुरानी शिक्षा की वजह से आप आंकड़ों का भली भांति विश्लेषण करके अच्छा निर्णय ले पाते हैं। फिर, सवाल यह भी है कि आपकी पूर्ववर्ती योग्यता आपके पांवों की जंजीर क्यों बने, शिक्षा बांध कर नहीं रखती, वह मुक्त करती है।

मिथक  : आज के करियर निर्णय से मैं आजीवन बंधा रहूंगा
यह भी एक लोकप्रिय अर्धसत्य है। वास्तव में कई लोग जीवन में कई बार करियर चेंज करते हैं। नए अवसर आ जाते हैं, उनकी रुचियां परिवर्तित होती हैं, उनकी प्राथमिकताएं बदलती हैं या फिर वह एक ही जैसे काम से ऊब जाते हैं - और यह गलत भी नहीं है। बस ध्यान यह रखना है कि आप करियर चेंज क्यों चाहते हैं - क्या इसलिए कि आपने पहले किसी दबाव में गलत निर्णय लिया था या फिर आप सफल होने के लिए धैर्यपूर्वक मेहनत नहीं कर पा रहे या फिर आपकी करियर रुचियां बदल गई हैं!

मिथक  : शौक, रुझान या हॉबी से सफल करियर बने हैं
सच है कि यदि आपकी हॉबी फिल्म देखना है तो शायद आप उससे करियर नहीं बना सकते पर आपकी रुचियों और आपके करियर के बीच गहरा संबंध अवश्य हो सकता है। अपने करियर और अपनी रुचियों के बीच में कॉमन क्षेत्र तलाशें, क्योंकि कोई भी करियर कठिन परिश्रम और सघन समर्पण चाहता है और किसी ऐसी चीज के प्रति समर्पित होना अत्यधिक कठिन है जो आतंरिक संतुष्टि नहीं देती।

मिथक  : किसी क्षेत्र को जानने के लिए उसका अनुभव जरूरी
यह भी पूरा सच नहीं है। व्यंजन में नमक कम है या ज्यादा यह जानने के लिए थोड़ा सा चखना ही पर्याप्त होता है। किसी भी करियर विकल्प के बारे में काफी कुछ जानकारी आप बिना भीतर गए ही पता लगा सकते हैं। उसके बारे में पढ़िए, जो लोग वहां हैं, उनसे बात कीजिए और जानने का प्रयास कीजिए कि वैसा अनुभव आपको कैसा लगेगा। लोगों से बात करते समय भी जानकारी या तथ्य हासिल करने पर जोर दें और प्रयास करें कि उनकी राय पर पूरी तरह से अमल न करके उन्हीं बिंदुओं पर गौर करें जो आपके काम के हैं। 

मिथक  : हॉबी को छोड़िये मुझे तो बस खर्चा-पानी चलाना है
यह सोच काफी व्यवहारिक लग सकती है, पर ऐसा है नहीं। यदि आप यह कहते हैं कि आपकी कोई रचनात्मक रुचि नहीं है तो इसका अर्थ यही है कि आपने स्वयं को भली भांति देखा नहीं है।

कैसा भी करियर हो, वह आपके सक्रिय जीवन का बहुत बड़ा हिस्सा ले लेता है। उसे मजबूरी मान कर ढोना आपका अपने आप के साथ अन्याय है। इसी सोच से आपको अपने करियर में बहुत अच्छा करने में भी दिक्कत होगी।

स्वयं को पहचानें। आत्म साक्षात्कार एक सही करियर निर्णय की पहली सीढ़ी है।

(लेखिका बोधिसूत्र डॉटकॉम में निदेशक हैं व टेक्नोलॉजी की सहायता से शिक्षा व ट्रेनिंग को सुलभ बनाने के क्षेत्र में कार्यरत हैं)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कॅरियर की सही दिशा