DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हड़तालियों का आरोप राजनीति कर रही सरकार

हड़ताली राज्यकर्मियों ने आरोप लगाया है कि राज्य सरकार हड़ताल पर राजनीति कर रही है। उन्होंने सरकार से राजहठ छोड़ने और उनकी सात सूत्री मांगों को पूरा करने की अपील की है। कर्मचारियों ने कुछ अधिकारियों द्वारा हड़ताल में शामिल लोगों को हड़काने का भी आरोप लगाया और उन्हें ऐसा न करने की चेतावनी दी। इसके पूर्व हड़ताली कर्मियों ने राजधानी पटना के विभिन्न हिस्सों से होकर रैली निकाली और राज्य सरकार का पुतला दहन किया।ड्ढr ड्ढr उन्होंने सरकार की हर कार्रवाई के विरोध का एलान भी किया और मांग की पूर्ति तक हड़ताल पर डटे रहने का अपना संकल्प दोहराया। सचिवालय सेवा संघ की अध्यक्ष नीलम कपूर, महासचिव अनिल कुमार सिंह, अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ (गोप गुट) के अध्यक्ष रामनारायण राय, महासचिव रामबली प्रसाद और अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के महामंत्री मंजुल कुमार दास ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार अपने पूर्व के समझौते से पीछे हट रही है। इसके पूर्व शाम चार बजे कर्मचारियों ने जुलूस निकाला जो बेली रोड, डाकबंगला, रेडियो स्टेशन होते हुए गांधी मैदान, जयप्रकाश नारायण गोलबंर तक पहुंचा और फिर सरकार का पुतला दहन किया। रैली को शिवपूजन सिंह, कांति सिंह, नित्यानंद सिंह, राजकिशोर राय, कृष्णनंदन शर्मा, अनूप राम, चन्द्रकिशोर प्रसाद, अजय सिंह आदि ने भी संबोधित किया। ..जब शपथ ग्रहण में बैठे रह गए नए मंत्रीड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। दूसरी बार मंत्री पद की शपथ ले रहे रामानन्द सिंह ने पहले इसका जमकर अभ्यास किया। समारोह शुरू होने के पहले अपनी कुर्सी पर बैठे श्री सिंह बार-बार शपथ पत्र को पढ़ रहे थे। इसके बावजूद मंच पर जाते ही उनसे थोड़ी गलती हो ही गई। शपथ दिलाने के लिए राज्यपाल खड़े हुए तो नये-नवेले मंत्री को खड़े होने का ध्यान ही नहीं रहा। बाद में राज्यपाल ने उन्हें खड़े होने का इशारा किया। शपथ लेकर नीचे उतर श्री सिंह की एक और गलती की ओर मुख्यमंत्री ने ध्यान दिलाया। उन्होंने बताया- शपथ लेने के बाद आपको दोनों हाथ जोड़कर नमस्कार करना चाहिए था। श्री सिंह कुछ कहते इससे पहले वहां मौजूद एक व्यक्ित ने कहा- दरअसल रामानन्द बाबू घबराए हुए थे कि इस बार भी कहीं कोई गलती न हो जाए।ड्ढr ड्ढr शपथ ग्रहण समारोह शुरू होने के पहले मंत्रिमंडल के कई सदस्य राजभवन पहुंच गए थे। रामानन्द सिंह बाद में पहुंचे। सभी मंत्रियों ने उन्हें बधाई दी। जल संसाधन मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव ने कहा- देखिये बाराती पहले से पहुंचे हुए हैं। सहकारिता मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा- हमलोग तो सबके साथ शपथ लिए थे। आज के आप इकलौते दूल्हा हैं। विवाह भी दुआह (दूसरा) है। श्री सिंह सबकी बात सुन-सुनकर मुस्कुराते रहे। नागरिक परिषद के सचिव अनिल पाठक भी इस दौरान चुटकी लेते रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हड़तालियों का आरोप राजनीति कर रही सरकार