DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गीगाबाइट

गीगाबाइट स्विच एक डिवाइस है, जो बहुत सारे नेटवर्किंग डिवाइस को एक साथ जोड़ता है। इसे नेटवर्क स्विच के नाम से जाना जाता है और इसकी स्पीड में भिन्नता होती है। हब्स और रूटर्स और इसके बीच हब्स बुनियादी स्तर, रूटर्स एडवांस और यह मध्यम स्तर का होता है।

नेटवर्किग के संदर्भ में जो भी गलतियां हैं, उससे पहले गीगाबाइट का प्रयोग होता है। परंपरागत रूप से बिट्स का प्रयोग बैंडविड्थ के लिए होता है, जबकि बाइट्स का प्रयोग डाटा के टोटल स्टोरेज के लिए। इसलिए साधारणत: रूटर्स , हब्स और स्विच बैंडविड्थ की स्पेसिफिकेशन है, जो मेगाबिट्स और गीगाबिट्स के संदर्भ में होता है और डिस्क्रिप्टर का प्रयोग कुल क्षमता से है। इस प्रकार गीगाबिट और बाइट आकार में समान हैं और हम बगैर गड़बड़ी के इसके प्रयोग में अदला बदली कर सकते हैं।

गीगाबाइट स्विच और अन्य किसी प्रकार के स्विच में मुख्य अंतर इसके तत्व को नियंत्रित करना है, जिसे कॉलिसन डॉमिन के नाम से जाना जाता है। इसके हब असंवेदनशील होते हैं, जो विभिन्न तरह के पत्ते से जुड़ते हैं, परंतु स्पेसिफिक डिवाइस से सीधे नेटवर्क ट्रेफिक से नहीं जुड़ते। इसका मतलब यह हुआ कि प्रत्येक कंप्यूटर, प्रिटंर या अन्य मशीन एक लाइन के साथ डाटा भेजता और प्राप्त करता है। अगर इसका संबंधित डिवाइस ऑन लाइन है तो यह कोई समस्या नहीं है। ज्यादा से ज्यादा परेशानी यह होगी कि नेटवर्क फेल हो जाऐगा या जुड़ेगा नहीं। जब हम बैंडविड्थ, मल्टिपल साइमल्टेनियस, कम्युनिकेशन से डाटा भेजने के लिए बहुत से डिवाइस का प्रयोग करते हैं, तो स्विच का केपेबल होना बहुत जरूरी है। 100 और 10 मेगाबाइट स्पीड के बैंडविड्थ की तुलना गीगाबाइट स्विच धीमी और पुराने स्टैंडर्ड स्विच से करें तो 100 गीगाबाइट स्विच की तुलना आसानी से कर सकते हैं। विभिन्न तरह के डिवाइस अलग बैंडविड्थ को सपोर्ट करते हैं। स्विच का चयन करते समय, उसकी क्षमता को ध्यान में रखें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गीगाबाइट