अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निर्णय लेना

दिन भर में ऑफिस में आपको कार्यस्थल संबंधी अनेक बातों के बारे में निर्णय लेने होते हैं। चूंकि कार्यस्थल पर आप अलग-अलग सोच और शैली वाले लोगों के साथ काम करते हैं, ऐसे में निर्णय लेने की प्रक्रिया में अलग-अलग सोच अपनाने की जरूरत पड़ती है। प्रभावी निर्णय लेने की प्रक्रिया में आवश्यक कदम इस प्रकार हो सकते हैं—

सतर्कता और उत्साह: इस प्रक्रिया में सबसे पहले यह देखना जरूरी होता है कि क्या विषय के संबंध में निर्णय तुरंत लिए जाना है या कुछ समय आपके पास है। कई बार स्थितियां ऐसी होती हैं कि आपको तुरंत निर्णय लेने की आवश्यकता होती है, पर उस समय भी यह बेहद जरूरी है कि आप उसके दीर्घकालीन परिणामों के बारे में सोच-समझ लें। आप परंपरागत तरीके से हटकर सोच सकते हैं, पर जरूरत है कि इस प्रक्रिया में सतर्क रहें।

सामूहिक निर्णय: कई बार जब किसी फैसले तक पहुंचने की प्रक्रिया में कई लोग शामिल होते हैं तो एक सामान्य स्वीकृति विकसित करने की कोशिश की जाती है जो सर्वमान्य भी हो और व्यावहारिक भी। एक टीम के तहत सभी को अपनी बात रखने की स्वतंत्रता होनी चाहिए, पर यह जरूरी है कि उसके बावजूद तथ्यपरकता बरकरार रखी जाए। जरूरी है सभी एक मंच पर सामूहिक रूप से अपनी राय पेश कर सकें।

नजरिया: टीम सदस्य अथवा टीम लीडर के रूप में किसी भी चुनौतिपूर्ण स्थिति का सामना करते समय विपक्षी के विचारों और असहमति के बिंदुओं को जेहन में रखना जरूरी है। ऐसा न करना उलझन पैदा करता है। इसके अलावा विवादास्पद/वैकल्पिक विचारों को दूसरे दृष्टिकोण के साथ सामूहिक मंच पर पेश करते हुए गहन विचार-विमर्श किया जा सकता है और आम सहमति में भी मदद मिलेगी।

प्रभाव का व्यापक अध्ययन: कुछ कार्य ऐसे होते हैं जिनके संबंध में फैसला लेते समय आपको मात्र संबंधित पूरी सूचनाओं की जानकारी होना आवश्यकता होता है और उनका प्रभाव भी सीमित होता है। पर कुछ ऐसे फैसले भी होते हैं जिनके लिए आपको जोखिम लेना पड़ता है। ऐसी स्थिति में कोई भी फैसला लेते समय उस संबंध में सभी बिंदुओं का अध्ययन कर लें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निर्णय लेना