DA Image
6 जून, 2020|3:49|IST

अगली स्टोरी

रैना व युवराज पर धोनी ने नहीं खोले पत्ते

रैना व युवराज पर धोनी ने नहीं खोले पत्ते

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने सोमवार को यह खुलासा करने से इंकार कर दिया कि सुरेश रैना मंगलवार से शुरू हो रहे तीसरे टेस्ट के लिए टीम में जगह बरकरार रख पाएंगे या फिट हो चुके युवराज सिंह की टीम में वापसी होगी।

रैना ने दूसरे टेस्ट मैच में शतक जमाया था और वह जिस तरह की फार्म में है उसे देखते हुए टीम प्रबंधन उन्हें टीम से बाहर करना नहीं चाहेगा। यह रैना का पहला टेस्ट मैच भी था, लेकिन रैना को टीम में जगह चोटिल युवराज सिंह की जगह मिली थी जो फिट हो चुके हैं।

यह पूछने पर कि कल किसे खेलना का मौका मिलेगा तो धोनी ने अपने पत्ते खोलने से इंकार कर दिया। धोनी ने मैच की पूर्व संध्या पर संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह मुश्किल फैसला है। आपके (रिपोर्टरों) पास आज और कल चलाने के लिए आधे घंटे का कार्यक्रम है, इसलिए मैं मंगलवार सुबह तक फैसला सुरक्षित रखूंगा।

पहला टेस्ट हारने के बाद सीरीज ड्रा कराने के लिए भारत को कल शुरू होने वाले तीसरे और अंतिम टेस्ट में हर हाल में जीत दर्ज करनी होगी। धोनी ने कहा कि सीरीज बचाने के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। उन्होंने कहा कि हम 1-0 से पिछड़ रहे हैं और सबसे बेहतर हम यह कर सकते हैं कि सीरीज को बराबर कर दें। यह बड़ी चुनौती होगी। हमने दूसरे टेस्ट से जो भी लय हासिल की है हमें उसे बरकरार रखना होगा। हमें देखना होगा कि टेस्ट का नतीजा हमारे पक्ष में हो।

पी सारा ओवल के विकेट के बारे में धोनी ने कहा कि पिच शुरुआत में तेज गेंदबाजों की मदद करेगी और मैच आगे बढ़ने से साथ स्पिनरों को भी इससे मदद मिलेगी। भारतीय कप्तान और विकेटकीपर ने कहा कि विकेट पर थोड़ी घास भी है लेकिन यह हरी नहीं है। अब यह जैसी दिख रही है कल उससे काफी अलग दिख रही थी। इसमें थोड़ा उछाल हो सकता है। हमने एसएससी पिच के बारे में भी ऐसा ही सोचा था लेकिन वहां तेज गेंदबाजों के लिए कुछ नहीं था।

धोनी इस बारे में भी सुनिश्चित नहीं दिखे कि कौन सा गेंदबाजी संयोजन इस अहम मुकाबले में उनके अनुकूल होगा। उन्होंने कहा कि यह ऐसा विकेट नहीं दिखता जिससे आपके तेज गेंदबाजों को काफी मदद मिले। आपको यह भी देखना होगा कि कुल मिलाकर आपको स्पिनर से फायदा मिलेगा या तेज गेंदबाज से। इस बारे में सीनियर खिलाड़ियों और कोच के साथ हमारी चर्चा हुई लेकिन इसकी संभावना काफी कम है कि हम तीन तेज गेंदबाज और एक स्पिनर के साथ उतरें। भारतीय कप्तान ने उम्मीद जताई कि उनके गेंदबाज पिच से रिवर्स स्विंग हासिल करने में सफल रहेंगे।

धोनी ने सचिन तेंदुलकर की भी सराहना की जो कल मैदान पर उतरते ही अपने 169वें मैच के साथ टेस्ट इतिहास के सर्वाधिक मैच खेलने वाले बल्लेबाज बन जाएंगे। उन्होंने कहा कि एक क्रिकेटर के तौर पर वह महान है। आपके पास ऐसे क्रिकेटर थे जो उसके जैसे दिग्गज थे, ऐसे विरोधी थे जो उसके जैसे अच्छे खिलाड़ी थे लेकिन जो चीज उन्हें अलग करती है वह यह है कि वह काफी विनम्र है। धोनी ने साथ ही उम्मीद जताई कि तेंदुलकर तीसरे टेस्ट में एक बार फिर शतक जमाकर टीम की मदद करेंगे।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:रैना व युवराज पर धोनी ने नहीं खोले पत्ते