अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दलित युवक की हत्या को लेकर लोकसभा में हंगामा

सोमवार को उत्तर प्रदेश के चंदोली में एक दलित युवक की पुलिस हिरासत में कथित हत्या को लेकर लोकसभा में  समाजवादी पार्टी (सपा)  और बहुजन समाज पार्टी (बसपा)  के सदस्यों के बीच तीखी झड़प हुई।

सपा के राम किशन ने शून्यकाल में यह मामला उठाते हुए आरोप लगाया कि राज्य में सत्तारुढ़ पार्टी के एक नेता के इशारे पर चंदौली में एक युवक को पुलिस हिरासत में पीट पीट कर मार डाला गया है। उन्होंने कहा कि पुलिस और प्रशासन इस मामले पर लीपा पोती करने में जुटा हुआ।

बसपा के सदस्यों ने इसका विरोध किया। इस पर सपा के साथ-साथ कांग्रेस के सदस्य भी खडे़ हो गए और जोर- जोर से बोलने लगे। इससे सदन में भारी शोरगुल शुरु हो गया। शोरगुल के दौरान किशन ने मामले की केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने तथा मृतक के परिजन को दस लाख रुपए का मुआवजा देने की मांग की।

अध्यक्ष मीरा कुमार ने सदस्यों को शांत कराते हुए कहा कि दलितों पर अत्याचार बहुत गंभीर मामला है और इस पर दलगत राजनीति से ऊपर उठकर विचार होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि सदस्य नोटिस दें तो दलितों पर अत्याचार पर चर्चा कराई जा सकती है।

राजद के रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि सरकार इस मसले पर क्यों चुप है। उसे भी कुछ कहना चाहिए। इस पर संसदीय कार्य राज्य मंत्री वी नारायणसामी ने कहा कि सरकार इस मसले पर उचित समय पर बयान देगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दलित युवक की हत्या को लेकर लोकसभा में हंगामा