अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीलंका के खिलाफ सीरीज़ बराबर करने के लिए उतरेगा भारत

श्रीलंका के खिलाफ सीरीज़ बराबर करने के लिए उतरेगा भारत

भारत का शीर्ष टेस्ट रैंकिंग स्थान भले ही दाव पर नहीं लगा हो, लेकिन चोटों की समस्या से जूझ रही टीम मंगलवार को यहां श्रीलंका के खिलाफ होने वाले तीसरे और अंतिम टेस्ट में जीत दर्ज कर सीरीज़ बराबर करने के इरादे से मैदान पर उतरेगी, लेकिन टीम प्रबंधन में अब भी खिलाड़ियों के चयन को लेकर कशमकश बनी हुई है।
    
भारतीय टीम 0-1 से पिछड़ रही है और सीरीज़ 1-1 से बराबर करने के लिए उसे जीत की दरकार होगी। हालांकि उन्हें आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में अपने शीर्ष स्थान की चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है लेकिन भारतीयों को पी सारा ओवल मैदान में होने वाले टेस्ट मैच से पहले चयन पहलूओं को लेकर कुछ दुविधा का सामना करना पड़ेगा।
    
साधारण प्रदर्शन कर रहे और फ्लू से पीड़ित युवराज सिंह की जगह मैदान पर उतरे सुरेश रैना ने ड्रा हुए दूसरे मैच में अपने आगाज में शतक जमाया था, जिससे उनका अंतिम मैच में खेलना सुनिश्चित लग रहा है।
    
कप्तान महेंद्र सिंह धोनी हालांकि अभी तय नहीं कर पाए हैं कि अंतिम एकादश में दोनों में से किसे चुना जाए इसलिए यह देखना होगा कि युवराज की पुरानी साख रैना की शानदार फार्म पर भारी पड़ती है या नहीं। सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर पर भी चिंता बरकरार है जो घुटने की चोट के कारण दूसरे टेस्ट में नहीं खेल पाए थे।

गंभीर को हालांकि नेट पर अभ्यास करते हुए देखा गया, लेकिन वह खेलने के लिए फिट हैं या नहीं, इसकी जानकारी नहीं है। अनुभवी खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर अगर खेलते हैं तो वह टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक टेस्ट मैच खेलने वाले क्रिकेटर बन जाएंगे और स्टीव वॉ के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ देंगे। तेंदुलकर भी ग्रोइन चोट से पीड़ित हैं, जिसके कारण वह दूसरे टेस्ट के अंतिम दिन मैदान पर नहीं उतरे थे।
    
लेकिन दूसरे टेस्ट में अपने कैरियर का पांचवां दोहरा शतक लगाने वाले इस 37 वर्षीय दायें हाथ के बल्लेबाज ने नेट पर अभ्यास किया, जिससे लग रहा है कि वह अपने रिकॉर्ड 169वें टेस्ट में मैदान पर उतर सकते हैं। इन चोटों की समस्याओं के अलावा भारतीयों के लिए बल्लेबाजी फार्म मुद्दा नहीं है, जिन्होंने श्रीलंका के पहली पारी में 642 के जवाब में पहली पारी में 707 रन का स्कोर खड़ा किया था।
    
वीरेंद्र सहवाग अपनी आक्रामक फार्म में थे और स्टायलिश वीवीएस लक्ष्मण जैसे खिलाड़ियों के लाइन अप के लिए अच्छी शुरूआत करने की कोशिश करेंगे। गेंदबाजी हालांकि भारतीयों के लिए चिंता का विषय है क्योंकि तेज गेंदबाजी विभाग में जहीर खान और एस श्रीसंत की कमी फाफी खल रही है जो चोट के कारण बाहर हैं।

इशांत शर्मा ने दूसरे टेस्ट में थोड़ा प्रभावित किया था, लेकिन वह पूरी सीरीज़ फार्म में नहीं दिखे। हालांकि युवा अभिमन्यु मिथुन ने सपाट पिच पर सर्वश्रेष्ठ करने की कोशिश की। स्पिन विभाग की अगुवाई कर रहे हरभजन सिंह भी अपना जादू बिखेरने में असफल रहे।
    
सिंहलीज स्पोटर्स क्लब की निर्जीव पिच पर पांच दिनों के अंदर 1500 रन बने जिसकी धोनी और श्रीलंकाई कप्तान कुमार संगकारा ने आलोचना की थी। श्रीलंका की टीम में भी बल्लेबाजी कोई समस्या नहीं है, जिसमें संगकारा, महेला जयवर्धने, थरंगा परणविताना और तिलकरत्ने दिलशान शामिल हैं। लेकिन मेजबान टीम का गेंदबाजी आक्रमण मुथैया मुरलीधरन की अनुपस्थिति में भी काफी अच्छा है।
    
दूसरे टेस्ट में लसिथ मलिंगा चोट के कारण नहीं खेल पाए थे, लेकिन फार्म में चल रहे इस तेज गेंदबाज के टीम में लौटने की उम्मीद है। उनकी वापसी से अन्य गेंदबाज अंजता मेंडिस, रंगना हेराथ, दिलहारा फर्नांडो और सूरज रणदीव के आत्मविश्वास में भी बढ़ोतरी की उम्मीद है।

टीमें इस प्रकार हैं-
भारत :एम एस धोनी (कप्तान), वीरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर, सुरेश रैना, राहुल द्रविड़, सचिन तेंदुलकर, वीवीएस लक्ष्मण, युवराज सिंह, मुरली विजय, रिद्धिमान साहा, इशांत शर्मा, मुनाफ पटेल, हरभजन सिंह, अमित मिश्रा, प्रज्ञान ओझा और अभिमन्यु मिथुन।
    
श्रीलंका :कुमार संगकारा (कप्तान), मुथैया मुरलीधरन, तिलकरत्ने दिलशान, थरंगा परणविताना, महेला जयवर्धने, तिलन समरवीरा, एंजेलो मैथ्यूज, प्रसन्ना जयवर्धने, लसिथ मलिंगा, रंगना हेराथ, दिलहारा फर्नांडो, धम्मिका प्रसाद, सूरज रणदीव, तिलिना कांदाम्बी, चनाका वेलेगेदारा और लाहिरू थिरिमाने।

मैच भारतीय समयानुसार सुबह 10 बजे शुरू होगा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:श्रीलंका के खिलाफ सीरीज़ बराबर करने के लिए उतरेगा भारत