DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लाकरबी आतंकी

लाकरबी बमर कहे जाने वाले लीबिया के आतंकी मेहराही को पिछले साल अगस्त में स्काटलैंड की जेल से छोड़ा गया था। तब इस मामले में संदेह की गंध आ रही थी। अब एक साल बाद ऐसा लग रहा है जैसे कोई मछली धूप में सड़ रही है और उसकी गंध दूर तक फैल रही है। स्काटलैंड के अधिकारियों का कहना था कि उसे संवेदना के आधार पर छोड़ा गया है । उसने 1988 में पैन एएम फ्लाइट 103 को लाकरबी पर गिरा दिया था जिसमें क्रिसमस मनाने लौट रहे सैकड़ों अमेरिकी छात्र मारे गए थे। डॉक्टरों का कहना था कि मेहराही (57) को आखिरी अवस्था का प्रोस्टेट कैंसर है और वह तीन महीने का मेहमान है, लेकिन मेहराही न सिर्फ जीवित है बल्कि लीबिया में स्वतंत्र जीवन जी रहा है। इससे मानवीय संवेदना बदनाम होती है।
यूएसए टूडे

गठजोड़ में बेचैनी
डेविड कैमरॉन ने अनुदार दल के सांसदों को खत लिखकर उन्हें निश्चिंत रहने की सलाह दी है। उनके सांसद निक क्लेग से चल रहे झटका देने वाले गठजोड़ के भविष्य के बारे में आशंकित रहते हैं। उन्होंने कहा है कि कंजरवेटिव और लिबरल डेमोक्रेटिक गठबंधन की सरकार ठीक से चल रही है और वह टॉरी पार्टी के लिए कारगर साबित हो रही है। कैमरॉन को इस समय मतदान में सुधार के लिए बढ़ते विरोध का सामना करना पड़ रहा है।  कैमरॉन का पत्र इस बात का सबूत है कि कार्यभार संभालने के दस हफ्ते तक तो अच्छा आनंद रहा पर अब कंजरवेटिव पार्टी के लिए वह खत्म हो चुका है। उधर क्लेग को भी अपनी लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी में भी बेचैनी का अहसास हो रहा है। उनका मानना है कि उन्हें मंत्री पद और कारों की खातिर टॉरी पार्टी की जहरीली नीतियों को ङोलना पड़ रहा है।
डेली मिरर, लंदन

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लाकरबी आतंकी