DA Image
30 मार्च, 2020|7:20|IST

अगली स्टोरी

पाकिस्तान विमान हादसे में सभी 152 यात्रियों की मौत

पाकिस्तान विमान हादसे में सभी 152 यात्रियों की मौत

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद के समीप घने जंगल वाले मर्गला हिल्स इलाके में बुधवार सुबह भारी वर्षा के बीच एक यात्री विमान के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से विमान में सवार सभी 152 यात्री मारे गए हैं। इसके पहले कहा गया था कि दुर्घटना में पांच लोग जीवित बच गए हैं।

एयरब्लू की उड़ान संख्या 2०2 तुर्की से कराची के रास्ते इस्लामाबाद आ रही थी। अचानक विमान का संपर्क हवाई अड्डे से टूट गया और कराची से उड़ान भरने के लगभग दो घंटे बाद सुबह 9.45 बजे वह मर्गला हिल्स के लोकप्रिय दामनकोह रिसॉर्ट के समीप दुर्घटनाग्रस्त हो गया। 

पाकिस्तान के आंतरिक मंत्री रहमान मलिक ने इसकी पुष्टि की है कि विमान दुर्घटना में कोई भी व्यक्ति जीवित नहीं बचा है। एयरबस ए-321 में चालक दल के छह सदस्यों सहित कुल 152 लोग सवार थे। मलिक ने इसके पहले कहा था कि दुर्घटना में पांच लोग जीवित बचे हैं। वहीं समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने कहा था कि बचावकर्मियों को कम से कम 40 जीवित लोग मिले हैं।
 
विमान का मलबा आग के गोले के रूप में बदल गया था और आकाश में घना धुंआ फैल गया था। एक बचाव अधिकारी ने कहा कि उसने मर्गला घाटी में चारों और जले हुए शवों और विमान के टुकड़ाें को बिखरे हुए देखा। संभवत: पाकिस्तान के इतिहास का यह सबसे बुरा हादसा था।
 
पाकिस्तान के पूर्व अंतर्राष्ट्रीय उड़ान प्रबंधक सलाहुद्दीन गुल ने कहा कि दुर्घटना का कारण कम दृश्यता हो सकता है।

इस्लामाबाद के पुलिस उप महानिरीक्षक जनरल बिनयामिन ने कहा कि 100 से अधिक शवों को बरामद कर लिया गया है। बिनयामिन ने कहा कि शवों की पहचान कर पाना कठिन हो सकता है।

बचाव कर्मियों ने शवों को निकालने के लिए तीन किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला बनाई है। विमान के मलबे को काटने के लिए भारी उपकरण दुर्घटनास्थल पर नहीं पहुंच पा रहे हैं।

प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि उन्होंने इस अभागे विमान को बहुत कम ऊंचाई पर उड़ते देखा था।

सकलैन अल्ताफ ने एक पाकिस्तानी समाचार चैनल को बताया कि वह परिवार के साथ उस पहाड़ी पर पिकनिक मनाने गए थे, उसी दौरान उन्होंने विमान को आकाश में असंतुलित अवस्था में देखा था।

अल्ताफ ने कहा, ''विमान ने संतुलन खो दिया था और उसके बाद हमने उसे नीचे जाते देखा।''

बचाव कार्य में मदद के लिए सशस्त्र बलों को बुलाया गया है और अस्पतालों में आपात स्थिति घोषित कर दी गई है।

नागरिक उड्डयन विभाग के प्रवक्ता परवेज जार्ज ने कहा कि सभी तरह की मौसम और तकनीकी जांच के बाद विमान को उड़ान भरने की अनुमति दी गई थी। कराची से इस्लामाबाद के लिए उड़े विमान का संपर्क स्थानीय समयानुसार सुबह 9.45 बजे हवाई अड्डे से टूट गया।

इस उड़ान के लिए 159 लोगों के पास टिकट थे। इनमें से कुछ लोग देर से आने की वजह से उड़ान नहीं पकड़ सके थे।

लेकिन अन्य लोग इतने नसीबवाले नहीं थे। एक युगल का विवाह केवल तीन दिन पहले हुआ था और वे हनीमून के लिए इस्लामाबाद जा रहा था। छह स्कूली बच्चों युवा संसद में हिस्सा लेने के लिए इस्लामाबाद जा रहे थे।

प्रधानमंत्री युसूफ रजा गिलानी ने मंत्रिमंडल की बैठक रद्द कर दी और पंजाब, सिंध तथा खबर पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्रियों के साथ दुर्घटना स्थल का हवाई सर्वेक्षण किया।

नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने एयर कोमोडोर अब्दुल मजीद के नेतृत्व में एक जांच बोर्ड गठित किया है।

मर्गला हिल्स इलाके में कई विमानभेदी तोपें लगी हैं और जंगलों से भरी इस पहाड़ी पर सेना की कई जांच चौकियां हैं।

बेनजीर भुट्टो अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के एक अधिकारी ने कहा कि यात्रियों के चिंतित रिश्तेदार हवाईअड्डे पर जमा हो गए हैं।

हादसे के समय इस्लामाबाद में बारिश हो रही थी और घना कोहरा था। संभवत: यह हादसा खराब मौसम की वजह से हुआ है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:पाकिस्तान विमान हादसे में सभी 152 यात्रियों की मौत