अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

युकी भांबरी : इस जूनियर के जज्बे को सलाम

दिल्ली के उभरते टेनिस सितारे युकी भांबरी ने शनिवार को इतिहास रच दुनिया में भारत का नाम रौशन कर दिया। युकी जर्मनी के एलेक्जेंड्रोस फर्डिनांदोस जाजरेदास को मात्र 57 मिनट में 6-3, 6-1 से हरा जूनियर ऑस्ट्रेलियन ओपन चैंपियन बन गया। भारत का पहला ऑस्ट्रेलियन ओपन जूनियर चैंपियन। युकी के साथ क्रिकेट खेलने वाले भी खुश हैं और पड़ोसियों के चेहर भी खिले हुए हैं। गुलमोहर पार्क में युकी भांबरी के घर शनिवार को जश्न का माहौल था। घर में मोबाइल और लैंडलाइन दोनों व्यस्त थे। सोलह वर्षीय युकी की मां इंदू भांबरी तो पूर दिन पत्रकारों के जवाब ही देती रहीं। इंदू भांबरी ने बताया कि युकी के फोरहैंड, बैकहैंड, वॉली सभी आला दज्रे की हो गई हैं और अब वह फिटनेस पर पूरा ध्यान लगा रहा है। सीरी फोर्ट में ट्रेनर राम युकी की फिटनेस पर खासा ध्यान देते हैं। उन्होंने कहा कि फ्लोरिडा में निक बोलतियरी अकादमी में प्रैक्िटस और दिल्ली में कोच आदित्य सचदेव की इनपुट उनके काम आई है। अमेरिका के बिस्केन में आरेंज बाउल टेनिस चैम्पियनशिप में एकल खिताब जीतने के साथ ही युकी ने वर्ष 2008 के अंत में विश्व जूनियर रैंकिंग में दूसरे स्थान पर छलांग लगा दी। उन्होंने जापान में ओसाका मेयर्स कप और इंडोनेशिया में एशिया ओसनिया चैम्पियनशिप के खिताब भी जीते हैं। सोलह वर्ष के इस खिलाड़ी ने अब सीनियर वर्ग में हाथ आजमाने का मन बनाया है। भारतीय टेनिस संघ के सचिव अनिल खन्ना ने युकी की जीत पर खुशी जताते हुए कहा कि देश में जूनियर टेनिस की बढ़ती प्रतियोगिता का ही यह सुफल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: युकी भांबरी : इस जूनियर के जज्बे को सलाम