DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रैगिंग रोकने के लिए मोबाइल की नो एंट्री

रैगिंग रोकने के लिए मोबाइल की नो एंट्री

अगर आपसे आपके मोबाइल को दूर करने को कहा जाए तो शायद आप छटपटाएंगे और खुद को दुनिया से कटा हुआ महसूस करेंगे। आजकल के दौर में लोगों के जीवन का हिस्सा बन चुके मोबाइल फोन पर दिल्ली विश्वविद्यालय के बेहतरीन कॉलेजों में से एक किरोड़ीमल कॉलेज ने बैन लगा दिया है। कॉलेज के अनुसार रैगिंग को रोकने के लिए छात्रों को यह आदेश दिया है। कॉलेज में कोई भी छात्र मोबाइल फोन का उपयोग नहीं करेगा। कॉरिडोर हो या क्लास रूम कहीं पर भी मोबाइल फोन की घंटी भी सुनाई दी तो उस छात्र का मोबाइल छीनने के साथ-साथ छात्र पर भारी जुर्माना भी लगाया जाएगा।

किरोड़ीमल कॉलेज के इस फरमान को कॉलेज शुरू होते ही छात्रों को सुना दिया गया है। कॉलेज ने यह प्रतिबंध सिर्फ दूसरे और तीसरे वर्ष में पढ़ रहे छात्रों पर ही नहीं कॉलेज में दाखिला लेने वाले नए छात्रों पर भी लगाया है। कॉलेज का मानना है कि यह प्रतिबंध रैगिंग को रोकने के लिहाज से लगाया गया है। किरोड़ीमल के उप प्रधानाचार्य एनसी नाहर का मानना है कि मोबाइल फोन पर प्रतिबंध रैगिंग के लिहाज से लगाया गया है। कॉलेज के कॉरिडोर में भी मोबाइल बैन है। यह बैन शुरुआती दिनों के लिए है।

हालांकि नोटिस में ऐसा कुछ नहीं लिखा है कि यह बैन कितने दिनों तक रहेगा। नोटिस में खुले जगह में फोन का उपयोग करने पर मनाही नहीं है।

वहीं दूसरी ओर रैगिंग को रोकने के लिए बनाई गई राघवन कमेटी की सब-कमेटी राजेंद्र प्रसाद कमेटी के अध्यक्ष और रामजस कॉलेज के प्रधानाचार्य राजेंद्र प्रसाद का मानना है कि इस तरह के कदमों से रैगिंग रोकने में कोई सहायता नहीं मिलती। जो कॉलेज ऐसा कर रहे हैं वो छात्रों कि मुश्किल कम करने की बजाए और बढ़ा रहे हैं। आपातकाल में छात्रों के पास अगर मोबाइल फोन जैसी बुनियादी सुविधा नहीं होगी तो वह घटना की सूचना प्रशासन और पुलिस तक कैसे पहुंचाएगा?

राजेंद्र प्रसाद ने किरोड़ीमल के ऐसे आदेशों को गलत बताते हुए कहा कि इस तरह के कदम गलत हैं। बड़े शहरों में फिर भी रैगिंग को रोकने के लिए कई सुविधाएं हैं पर छोट-छोटे शहरों में मोबाइल एक बड़ा हथियार होता है। ऐसे में अगर मोबाइल को बैन कर दिया जाएगा तो दिक्कतें और बढ़ जाएंगी। दिल्ली विश्वविद्यालय पहले ही रैगिंग को लेकर काफी सख्त है। दिल्ली यूनिर्वसिटी पहले ही छात्रों से एक बांड साइन करा चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रैगिंग रोकने के लिए मोबाइल की नो एंट्री