DA Image
4 जून, 2020|8:40|IST

अगली स्टोरी

त्रिस्तरीय जीएसटी प्रस्तावों से आम आदमी पर कर का बोझ बढ़ेगा : विशेषज्ञ

त्रिस्तरीय जीएसटी प्रस्तावों से आम आदमी पर कर का बोझ बढ़ेगा : विशेषज्ञ

वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी द्वारा वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी)  पर पेश त्रिस्तरीय प्रस्तावों के बारे में विशेषज्ञों का कहना है कि इनसे आम आदमी पर कर का बोक्ष बढ़ेगा। अनर्स्ट एंड यंग के टैक्स पार्टनर विपिन सपरा ने कहा,  नकारात्मक प्रभावों में कुछ कमी आ सकती है, लेकिन कुल मिलाकर आम आदमी के लिए कर का बोझ बढ़ेगा।

वित्त मंत्री ने कल जीएसटी के लिए कर ढांचे का प्रस्ताव पेश किया जिसमें वस्तुओं पर 20 प्रतिशत, सेवाओं पर 16 प्रतिशत और आवश्यक वस्तुओं पर 12 प्रतिशत की दर से कर लगाने का प्रस्ताव है। बीएमआर एडवाइजर्स के साक्षीदार राजीव डिमरी ने कहा,  अगर विनिर्माता अपने लाभ ग्राहकों को देते हैं तभी उनका कर बोझ घटेगा।
   
हालांकि, उद्योग मंडलों में जीएसटी के उद्योग पर पड़ने वाले असर को लेकर राय भिन्न-भिन्न है। जहां सीआईआई और एसोचैम ने इस घोषणा का स्वागत किया, वहीं फिक्की ने इस पर आपत्ति जताई। फिक्की ने कहा,  यह कर ढांचा जीएसटी के उददेश्य को पूरा नहीं करेगा दरें काफी उंची हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:त्रिस्तरीय जीएसटी प्रस्तावों से कर का बोझ बढ़ेगा : विशेषज्ञ