अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दागी केंद्राधीक्षक परीक्षा से अलग रहेंगे

मैट्रिक व इंटर की परीक्षा में इस बार केंद्राधीक्षकों के चयन में काफी सतर्कता बरती जा रही है। परीक्षा को बेहतर तरीके से संचालित कराने वालों को ही इसकी जिम्मेवारी सौंपी जाएगी। पिछले बार की परीक्षा में जिन केंद्रों पर कदाचार की शिकायतें मिली थी वहां पर इसके लिए विशेष तैयारी की जा रही है। जिला स्तर पर तैयार की जा रही केंद्रों की सूची में केंद्राधीक्षकों के निर्धारण के लिए टिप्पणी भी की जा रही है। दागी केंद्राधीक्षकों को परीक्षा कार्य से पूरी तरह अलग रखा जाएगा।ड्ढr ड्ढr वहीं समिति को जिन केंद्राधीक्षकों के संबंध में शिकायत मिलेगी उन्हें परीक्षा के समय भी हटाया जा सकता है। जिला स्तर पर सूची को पूरा किए जाने के बाद समिति को भेजा जाएगा। यहां पर उनके पिछले रिकार्ड व डीएम या डीईओ की टिप्पणी के आधार पर उनको कार्य आवंटित किया जाएगा। नियमानुसार केंद्र बनाए जाने वाले संस्थान के प्रधान को केंद्राधीक्षक बनाया जाता है लेकिन रिकार्ड खराब होने की स्थिति में उन्हें बदला भी जा सकता है। इंटर परीक्षा के लिए लगभग 400 केंद्रों का गठन किया जा रहा है। वहीं केंद्रों पर बेहतर परीक्षा संचालन के लिए इस बार अतिरिक्त फ्लाइंग स्क्वायड की नियुक्ित की जाएगी। इस संबंध में समिति के अध्यक्ष प्रो. एकेपी यादव का कहना है कि केंद्रों के गठन की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। इस कार्य को जिला स्तर पर संचालित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि परीक्षा को कदाचारमुक्त संचालित कराने के लिए इस बार अतिरिक्त उड़नदस्ता टीम का गठन होगा जो जिला स्तर पर परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट समिति को सौंपेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दागी केंद्राधीक्षक परीक्षा से अलग रहेंगे