अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

..और मंत्रीजी निकल पड़े अभियान पर

राज्यपाल आरएल भाटिया ने झंडी दिखाई और लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्री अश्विनी कुमार चौबे बिहार को निर्मल राज्य बनाने के अभियान पर निकल पड़े। रविवार को बिहार ग्राम गौरव यात्रा के रथ पर सवार मंत्रीजी मुस्कुराते हुए हाथ जोड़कर लोगों का अभिवादन स्वीकार कर रहे थे। आगे पोस्टर-बैनर से सजी गाड़ियों का काफिला चल रहा था और पीछे बच्चे नारा लग रहे थे-स्वच्छ बिहार, स्वस्थ बिहार। यात्रा का यह दूसरा चरण है और इस दौरान श्री चौबे पटना, आरा, कैमूर और बक्सर जिले के गांवों में जाएंगे।ड्ढr ड्ढr जिस गांव में रात को यात्रा रुकेगी वहां अगले दिन श्रमदान से खोदे गए गड्ढों पर शौचालय बनेंगे। श्री चौबे ने स्वीकार किया कि वर्ष 2012 तक यानी तीन साल में बिहार को निर्मल राज्य बनाने का लक्ष्य आसान नहीं है। इसके लिए कुल 1.13 करोड़ शौचालय बनाने होंगे। फिलहाल 14 लाख ही बन पाए हैं। इसके लिए लोगों को जागरूक करना होगा। इसीलिए यह यात्रा निकाली जा रही है। श्री चौबे ने कहा कि राज्य सरकार यहां बीपीएल के परिवारों को शौचालय बनाने के लिए अनुदान बढ़ाकर 2200 रुपए करने जा रही है। एपीएल के लिए अनुदान देने वाला बिहार पहला राज्य बन गया है। राजभवन के सामने समारोह में राज्यपाल ने लोगों को बिहार को प्रदूषणमुक्त बनाने का संकल्प दिलाया। इससे पहले बच्चों ने मानव श्रंखला बनाई जिसमें श्री भाटिया और चौबे के साथ ही सचिव वी जयशंकर, विधायक नीतिन नवीन, अरुण कुमार सिन्हा और अनिल कुमार के अलावा यूनिसेफ के विजयराज भंडारी और पीएचईडी के कई अधिकारी भीकड़ी बने।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ..और मंत्रीजी निकल पड़े अभियान पर