अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मतदान कुप्रबंध की समीक्षा होगी : अनिल

पटना साहिब के चुनाव में कांग्रस के मतदाता कुप्रबंधन के शिकार हुए। पार्टी ने माना है कि बूथ मैनेजमेन्ट में गड़बड़ी हुई जिसके कारण कांग्रस को वोट देने वाले मतदाता पर्ची तक खोजने को मजबूर हुए। कांग्रस के प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार शर्मा ने कहा कि इन सभी खामियों के बावजूद कांग्रस उम्मीदवार शेखर सुमन के पक्ष में धर्मनिरपेक्ष मतदाताओं ने वोट डाले। फतुहा और बख्तियारपुर के ग्रामीण इलाकों में लोगों ने बढ़-चढ़ कर वोट किया, पर शहरी इलाकों में कई जगहों पर लोगों को पर्ची तक नहीं मिली। लोग कांग्रसी कार्यकर्ताओं को जोहते रहे।श्री शर्मा ने कहा कि शहर में चुनावी कुप्रबंधन की वे समीक्षा करंगे और सारी घटनाओं से आलाकमान को अवगत कराएंगे। उन्होंने कहा कि जिस आदमी की औकात 5 बूथ के प्रबंधन की नहीं थी उसे 50 बूथ का प्रभार दे दिया गया। रहने वाला कहीं का और बूथ मैनेज करने कहीं पहुंच गये।ड्ढr ड्ढr कुप्रबंधन का आलम यह रहा कि सूबे के दूसर क्षेत्रों में कांग्रेसी उम्मीदवार के विरोध में काम करने वाले पटना में उम्मीदवार के साथ घूमते रहे और फोटो खिंचवाते रहे। आमतौर पर उम्मीदवार की इच्छानुसार उसके करीबी को ही उस क्षेत्र की चुनावी प्रबंधन की कमान सौंप दी जाती है। पटना में ऐसा ही हुआ और पीछे से जिला और प्रदेश कमेटी का सपोर्ट दिया गया। पर अब यह कहने में कोई अफसोस नहीं है कि पटना साहिब के चुनाव में बूथ मैनेजमेन्ट में कुप्रबंधन के कारण कांग्रसी मतदाताओं को फजीहत झेलनी पड़ी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मतदान कुप्रबंध की समीक्षा होगी : अनिल