DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहली कटऑफ से छात्र न हों निराश

चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के टॉप और नामीगिरामी कॉलेज व संस्थानों में एडमिशन लेने के इच्छुक छात्रों को पहली कटऑफ से परेशान होने की कोई जरूरत नहीं है। एडमिशन की पहली सूची में आपका नाम नहीं है तो आसपास के कॉलेज और संस्थानों में भी सीटें खाली होने से आपकी मंजिल पूरी हो सकती है।

ग्रेटर नोएडा और बुलंदशहर के कॉलेज और संस्थानों में व्यावसायिक और परंपरागत पाठ्यक्रमों में मेरिट काफी ऊंची पहुंची है। मगर पड़ोस के इलाकों में स्थित कॉलेजों में सीटें रिक्त पड़ी हैं। दनकौर के श्री द्रोणाचार्य महाविद्यालय के अनेक पाठ्यक्रमों में सीटें खाली हैं। कॉलेज के प्राचार्य डॉ़  टीएन मिश्र ने बताया कि उनके कॉलेज में बीए में 61, बीकॉम के 22, बीएससी गणित के 33, जीव विज्ञान के 50, एमए हिंदी के 58, एमए अंग्रेजी के 58, बीबीए के 48 और बीसीए की 47 सीटें रिक्त हैं। जिन छात्रों ने रजिस्ट्रेशन अन्य किसी कॉलेज में कराया है और वहां उनका हाई मेरिट में नंबर नहीं आया है तो अन्य कॉलेज और सेल्फ फाइनेंस संस्थानों में सीट खाली होने पर एडमिशन हो सकता है। कई विश्वविद्यालय और संस्थानों में अभी भी पहले आओ और पहले पाओ के आधार पर दाखिले दिए जा रहे हैं।

पंजीकरण तिथि बढ़ी

सीसीएस यूनिवर्सिटी ने व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने हेतु छात्रों की मुश्किल अब और भी आसान कर दी है। बीबीए, बीसीए सहित अन्य व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में अनेक कॉलेज और संस्थानों में सीटे खाली पड़ी हैं। इन पाठ्यक्रम में रजिस्ट्रेशन की तिथि दूसरी बार बढ़ाकर 20 जुलाई कर दी गई है। विवि के जन सूचना अधिकारी एससी पिपलानी ने बताया कि समस्त कॉलेज और संस्थानों का बढ़ी डेट की लिखित सूचना भेजी जा रही है। ज्ञात हो कि पहले उक्त डेट 12 जुलाई तक बढ़ाई गई थी। अनेक कॉलेजों और संस्थानों के संचालक और प्राचार्य पहले से ही व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में डेट बढ़ाने की मांग कर रहे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पहली कटऑफ से छात्र न हों निराश