अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीन में दो करोड़ प्रवासी कामगारों से छिना काम

वैश्विक वित्तीय संकट क कारण चीन क लगभग दो करोड़ प्रवासी कामगारों को अपनी नौकरियों स हाथ धोना पड़ा है और बेरोगार होने के बाद व अपन घरों को लौट गए हैं। सिन्हुआ न वरिष्ठ ग्रामीण नियोजन अधिकारी चन झिवन क हवाल स बताया कि आर्थिक मंदी क कारण लगभग दो करोड़ ग्रामीणों को या तो नौकरी स हाथ धोना पड़ा है या उन्हं रोजगार न मिलन क कारण अपन घरों को लौटना पड़ा है। य आंकड़ कृषि मंत्रालय द्वारा 15 प्रांतों क 150 गांवों पर कराए गए सर्वक्षण पर आधारित हैं। झिवन की यह टिप्पणी सरकार द्वारा एक दस्तावज जारी किए जान क एक दिन बाद आई है। दस्तावज मं चतावनी दी गई है कि आर्थिक विकास क संदर्भो मं वर्ष 200सदी का सबस चुनौतीपूर्ण वर्ष साबित हा सकता है। उखनीय है वित्त वर्ष 2008 की चौथी तिमाही मं दश की आर्थिक विकास दर घटकर 6.8 फीसदी हो गई। इसका असर दश की वार्षिक विकास दर पर भी पड़ा और यह घटकर नौ फीसदी पर आ गई जो पिछले सात वर्षो मं उसकी न्यूनतम दर है। दस्तावज मं स्थानीय व केंद्र सरकार स मांग की गई है कि व नई नौकरियों क सृजन और ग्रामीण आय मं क्षाफ क उपाय अपनाएं। कंपनियों स कहा गया है कि व और सामाजिक जिम्मदारियां निभाएं और बहतर रोगार मुहैया कराएं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चीन में दो करोड़ प्रवासी कामगारों से छिना काम