DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विकास छुपता नहीं : नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अगर बिना ढिढोरा पिटे भी बढ़िया काम किया जाए तो लोगों तक सच्चाई पहुंच ही जाती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी आकांक्षा है कि देश का विकास हो और उसमें बिहार का अधिक से अधिक योगदान हो। मुख्यमंत्री सोमवार को सीएनएन-आईबीएन-एचटी की ओर से ‘पॉलिटिशियन ऑफ द इयर 2008’ का अवार्ड लेने के बाद बोल रहे थे। यहां होटल ताज में विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी से पुरस्कार ग्रहण करते कुमार ने कहा कि यह पूर बिहार का सम्मान है।ड्ढr ड्ढr रेल मंत्री लालू प्रसाद और इस्पात मंत्री रामविलास पासवान की तरह प्रधानमंत्री पद को लेकर उनकी आकांक्षा की बाबत उन्होंने कहा कि वह ऐसी महत्वाकांक्षा नहीं पालते हैं। चयन समिति में पूर्व एटार्नी जेनरल शोली शोराबजी, दीपक पारख, नन्दन निलेखनी व एचटी मीडिया लि. की चेयरपर्सन सह एडिटोरियल डायरक्टर श्रीमती शोभना भरतिया शामिल थीं। इस मौके पर दिल्ली की सीएम शीला दीक्षित ने कुमार की तारीफ करते कहा कि वह उनसे कुछ गुर सीखना चाहती हैं।ड्ढr ड्ढr डेढ़ हाार पंचायत सेवक बर्खास्तड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना(नरगा) के तहत अनुबंध पर बहाल करीब डेढ़ हजार पंचायत रोजगार सेवकों को सरकार ने बर्खास्त कर दिया है। हटाए गए रोजगार सेवक वेतन बढ़ाने की मांग को लेकर हड़ताल पर थे। ग्रामीण विकास विभाग ने उनकी हड़ताल को अनुचित बताते हुए काम पर वापस लौटने का अल्टीमेटम दिया था। बर्खास्तगी से रिक्त हुए पदों पर एक माह के भीतर बहाली की जाएगी। ग्रामीण विकास मंत्री श्रीभगवान सिंह कुशवाहा ने पंचायत रोजगार सेवकों की बर्खास्तगी की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि बाकी रोजगार सेवक अगर वापस नहीं लौटे तो वे भी बर्खास्त होंगे। मंत्री ने कहा रोजगार सेवकों के हड़ताल पर जाने से नरगा के तहत कार्यान्वित हो रहीं योजनाएं प्रभावित हो रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विकास छुपता नहीं : नीतीश