अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मानुषेर प्रेमके बोले भलोबासा, भगोबानेर प्रेमके बोले भक्ित

मानुषेर प्रेमके बोले भालोबासा, भगोबानेर प्रेमके बोले भक्ित (मानव प्रेम के प्यार और ईश्वर प्रेम को भक्ित कहा जाता है)- इसी थीम के साथ सात मई को रामकृष्ण मिशन आश्रम दिव्यायन कृषि विज्ञान केंद्र, रांची द्वारा भक्त प्रह्लाद नाटक का मंचन किया गया। आश्रम द्वारा संचालित कृषि विवि के छात्रों ने राक्षस कुल में जन्मे भक्त प्रह्लाद के ईश्वर प्रेम का बखूबी मंचन किया गया।ड्ढr श्यामापद पाल के निर्देशन में प्रह्लाद के चरित्र को निभाया विनय मजुमदार ने। उनकी सुरीले आवाज में प्रस्तुत भक्ित गीतों को उपस्थित दर्शकों ने खूब सराहा। अन्य भूमिकाओं में अनुप पाल, एसएन साहा, दिलीप बनर्जी, बबलु प्रामाणिक ने सराहनीय प्रदर्शन किया। इसके पहले स्वामी नरंद्रानंदजी महाराज ने श्रीरामकृष्ण, मां काली, स्वामी विवेकानंदजी पर भक्ित गीत प्रस्तुत किया। रामकृष्ण मिशन द्वारा आयोजित वार्षिक समारोह में इस दिन मोरहाबादी रामकृष्ण मिशन आश्रम के सचिव स्वामी शशांकनंदजी महाराज, रायपुर के स्वामी सत्यरूपानंदजी, बेलूड़ मठ के स्वामी स्वामी अच्युतानंदजी सहित कई स्वामीजी, ब्रम्हचारी और साधु-संत के अलावा बड़ी संख्या में भक्तजन उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मानुषेर प्रेमके बोले भलोबासा, भगोबानेर प्रेमके बोले भक्ित