DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेल परियोजनाओं को पसंद कर रही जनता

नाम : लालू प्रसाद यादव, क्षेत्र : छपरा पार्टी : राष्ट्रीय जनता दलड्ढr परिचय : जन्म : 11 जून 1शिक्षा : बीए, एलएलबीड्ढr ड्ढr उपलब्धियां : छपरा से महज 2साल की आयु में 1में पहली बार संसद पहुंचे। 10 से 8से तथा 0 से तक क्रमश: बिहार विधानसभा और परिषद के सदस्य रहे। 10 से 1तक बिहार के चर्चित मुख्यमंत्री रहे। 1और में दूसरी और तीसरी बार व 2004 में मधेपुरा और छपरा से चौथी बार संसद में पहुंचे। रेलवे को रिकार्ड मुनाफा दिलाने के बाद ‘मैनेजमेंट गुरु’ का नया नाम मिला।ड्ढr नेताजी कहिन : सारण जिले में तीन बड़े रल कारखानों की मंजूरी, छपरा जंक्शन को विश्वस्तरीय रलवे स्टेशन का दर्जा, जिले के कई रलवे स्टेशनों पर सुविधाएं बहाल, बरौनी-गोरखपुर (वाया छपरा) रललाइन विद्युतीकरण का कार्य कराएंगे।ड्ढr ड्ढr जनता खुश : शहर के नगरपालिका चौक स्थित पान दुकानदार वीरन्द्र प्रसाद कहते हैं कि सांसद ने कई रल परियोजनाओं को यहां शुरू कराया। रतनपुरा के वी.के. प्रसाद अपने सांसद को विश्वस्तर का नेता मानते हुए खुशी जताते हैं। कहते हैं कि रल मंत्री ने छपरा जंक्शन को विश्वस्तरीय बनाने की घोषणा की है और यह काम सबको दिख भी रहा है। श्यामचक निवासी सोहन यादव तो रल मंत्री को विकास पुरुष बताते हैं। सलेमपुर मोहल्ले के रहने वाले भोला सिंह के लिए तो सांसद गरीबों के मसीहा हैं जो हमेशा मदद करते हैं। रल मंत्रालय के माध्यम से लालू जी ने यहां की जनता की सुविधा के लिए जंक्शन पर स्पेशल कैंप लगाकर चिकित्सा करवाई।ड्ढr ड्ढr नाराजगी : साधनापुरी के पी.के. श्रीवास्तव, परसा के डीहपचख के अजय कुमार तथा छोटा तेलपा के जितेन्द्र कुमार का कहना है कि सांसद आमलोगों के लिए कभी सुलभ नहीं रहे। वह जनता से दूर रहे, चाहकर भी हम लोग उनसे नहीं मिल सके। यहां तक कि उनके सांसद कोष से जितना विकास होना चाहिए था उतना नहीं हो सका। यहां तक कि सांसद प्रतिनिधि भी अभी तक मनोनीत नहीं किए गए। इसी तरह के विचार दहियांवा के सुधीर सिंह भी व्यक्त करते हैं। उनका कहना है कि रल मंत्री ने जंक्शन पर बड़े भवन और चमकदार बोर्ड तो लगवा दिए पर टिकट, रिजव्रेशन व अन्य सुविधाएं बहाल नहीं हुई। इसलिए परशानी तो कायम है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जनता की नजर में सांसद