DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेठी को नया जिला बनाने पर गर्माई राजनीति

उत्तर प्रदेश के सभी प्रतिपक्षी दलों ने अमेठी संसदीय क्षेत्र में आने वाली पांच तहसीलों को अलग करके बनाए गए नये जिले का नामकरण शाहूजी महाराज के नाम पर करने पर आपत्ति जताई है। और आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री मायावती ने अपने राजनीतिक एजेंडे को बढ़ाने के लिए ही यह कार्य किया है।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष डा़ रीता बहुगुणा जोशी ने जिले के निर्माण का स्वागत करते हुए कहा है कि अच्छा होता कि जिले का नाम अमेठी ही रखा गया होता, क्योंकि सारी दुनिया में लोग इस क्षेत्र को अमेठी के नाम से ही जानते है।

जिले का नामकरण शाहू जी महाराज के नाम पर किये जाने के बारे में कोई टिप्पणी करने से इंकार करते हुए जोशी ने कहा कि इस जिले का नाम चाहे जो रखा जाये। इसकी पहचान हमेशा नेहर- गांधी परिवार और कांग्रेसी नेताओं से ही होगी, क्योंकि इन्होंने इस क्षेत्र के विकास के लिए बहुत योगदान किया है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमेठी के नामकरण पर गर्माई राजनीति