DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत में हो रहा है मासूमियत से खिलवाड़

भारत में हर घंटे एक बलात्कार होता है। यह आंकड़ा सच है और इसकी गवाही देती है पिछले 48 घंटों में चार मासूमों के साथ बलात्कार की घटना। दिल्ली, मुंबई, महाराष्ट्र और पंजाब में छह मासूमों के साथ हुई घिनौनी वारदातों ने पूर देश को झकझोर दिया है। चार बच्चियां बलात्कार का शिकार हुईं, जबकि एक किशोरी को बदमाश उठाकर ले गए। इसके अलावा फरीदाबाद में एक किशोर को चोरी के आरोप में नंगा घुमाया गया। दिल्ली में एक छह साल की बच्ची के साथ बलात्कार हुआ। बलात्कार करने वाला 13 साल का किशोर है। घटना गोविंदपुरी इलाके की है। यह किशोर बच्ची को बहला कर एक सुनसान जगह पर ले गया और उसके साथ बलात्कार किया। बताया जाता है कि किशोर ने बच्ची के गुप्तांगों पर किसी तेज हथियार से वार भी किया। बालिका के चिल्लाने पर वहां मौजूद लोगों ने किशोर को धर दबोचा और पुलिस के हवाले कर दिया। इधर दिल्ली बॉर्डर से सटे चौहान पट्टी गांव में कुछ हथियारबंद बदमाश एक परिवार के घर में घुसे और 15 वर्षीय किशोरी का अपहरण कर लिया। वहीं फरीदाबाद में एक दुकानदार ने उसके यहां काम करने वाले 13 साल के बच्चे पर चोरी का आरोप लगाकर पहले तो उसे पीटा फिर नंगा कर सार बाजार में घुमाया। दुकानदार ने बच्चे के ऊपर ‘मैं चोर हूं’, ‘मैंने मोबाइल चोरी किया है’ लिखकर उसे घुमाया। बलात्कार की दूसरी घटना महाराष्ट्र के अकोला स्थित दानापुर गांव की है। यहां एक 18 माह की बालिका के साथ बलात्कार हुआ। बाद में गांववालों ने उसे पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। मासूम के साथ बलात्कार की तीसरी वारदात मुंबई में हुई। एक दो साल की बालिका के साथ बलात्कार कर उसे गटर में फेंक दिया गया। पुलिस के मुताबिक, यह बालिका अपने परिवार के साथ विले पार्ले रलवे स्टेशन के निकट सो रही थी। रात को अचानक वह लापता हो गई। परिानों ने खोजा तो कुछ घंटे बाद वह नजदीक के एक गटर में मिली। पुलिस ने उसे अस्पताल पहुंचाया, जहां बलात्कार की पुष्टि हुई। इसी तरह पंजाब के मोगा में एक 13 साल की किशोरी दो वहशियों की हवस का शिकार बनी। इन दोनों ने उसे कई महीनों तक बंधक बना कर रखा। घलकालन गांव की यह किशोरी पिछले साल अक्टूबर से ही लापता थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत में हो रहा मासूमियत से खिलवाड़