DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैसे और क्यों मिली प्रदेश कमेटी में जगह

प्रदेश भाजपा के नवनियुक्त अध्यक्ष रघुवर दास ने अपने तरीके से नयी टीम बनायी है। रघुवर दास ने वही किया है, जो हर नया अध्यक्ष करता है। इस कवायद में कुछ नेता खुश हुए हैं, तो कुछ नाराज भी। दिलचस्प यह भी रहा कि दो फरवरी को अजरुन मुंडा के दोनों पुत्रों का जमशेदपुर में कर्ण छेदन संस्कार था। उसमें रघुवर दास, रांन पटेल पहुंचे थे। दूसर अतिथि समारोह में भाग ले रहे थे, तो भोज खाने के बहाने पहुंचे ये नेता उनके ऊपरी तल्ले में बैठ कर सूची को अंतिम रूप दे रहे थे।ड्ढr गणेश मिश्र : पहले मंत्री थे। अब महामंत्री बने। कार्यालय में रहते हैं। यहीं खाते और सोते भी हैं। संगठन महामंत्री रांन पटेल का सारा काम (ऑफिसियल और अनऑफिसियल) देखते हैं। बड़े नेताओं को हर तरह की सूचना भी देते हैं।ड्ढr अशोक भगत : पूर्व में इन्हें पार्टी में मंत्री बनाया था। भगत की चाहत इससे ज्यादा थी। वह नाखुश हो गये और प्रदेश कमेटी की चार बैठकों में नहीं आये। उस समय अजरुन मुंडा सरकार की सेहत ठीक नहीं थी। बाद में उन्हें विधायक दल का उपनेता बनाया गया।ड्ढr जितेंद्र महतो : कोडरमा उप चुनाव के दौरान भाजपा में शामिल हुए। दो वर्षो के भीतर सीधे प्रदेश कमेटी में मंत्री का पद हासिल कर लिया।ड्ढr अमरंद्र सिंह मुन्ना : दुमका के पूर्व जिलाध्यक्षहैं। निवर्तमान जिलाध्यक्ष से उनकी गाढ़ी दोस्ती है। इन दोनों ने मिलकर लालकृष्ण आडवाणी के कार्यक्रम को सफल बनाया। अब मुन्ना को मंत्री बना कर दोस्ती में दरार पैदा कर दी गयी, ताकि वे दोनों मिल कर नये जिलाध्यक्ष विपिन अग्रवाल के खिलाफ कुचक्र नहीं रचें। चक्रधर यादव : गोड्डा के रहनेवाले हैं। एक साल पहले ही भाजपा में आये। मंत्री बन गये। नूतन तिवारी : तेज तर्रार लेडी हैं। छह महीने पहले भाजपा में आयी हैं। सीधे कार्यसमिति में पहुंच गयीं।ड्ढr मीरा जायसवाल : झारखंड राज्य महिला आयोग की सदस्य भी हैं। फिर कार्यसमिति में भी पहुंच गयीं।ड्ढr बैजनाथ राम : पहले भाजपा में थे। जदयू में चले गये थे। छह महीने पहले फिर भाजपा में आये और अनुसूचित जाति मोरचा के अध्यक्ष बन बैठे।ड्ढr सिमडेगा अध्यक्ष की छुट्टी : सिमडेगा अध्यक्ष नीलम आइजन तिर्की की छुट्टी हो गयी।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कैसे और क्यों मिली प्रदेश कमेटी में जगह