अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नित्यानंद ने पूर्व शिष्य पर अभियोग चलाने की मांग की

नित्यानंद ने पूर्व शिष्य पर अभियोग चलाने की मांग की

स्वयंभू बाबा नित्यानंद ने गुरुवार को कर्नाटक हाईकोर्ट में एक आवेदन दाखिल कर अपने पूर्व शिष्य के लेनिन के खिलाफ अभियोग चलाने की गुहार लगाई। उन्होंने लेनिन पर झूठी शिकायत दायर करने का आरोप लगाया कि वह अनैतिक गतिविधियों में लिप्त थे।

लेनिन की शिकायत के आधार पर नित्यानंद बलात्कार और अन्य आपराधिक आरोपों का सामना कर रहा है। नित्यानंद ने अदालत से पुलिस को निर्देश देने की मांग की कि वह झूठी सूचना देने को लेकर लेनिन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करे।

नित्यानंद को 53 दिन हिरासत में बिताने के बाद हाल में जमानत पर रिहा किया गया था। लेनिन ने दावा किया था कि उसने वीडियो फुटेज शूट किया था। इस वीडियो में नित्यानंद को तमिल अभिनेत्री के साथ आपत्तिजनक अवस्था में दिखाया था। इस वीडियो फुटेज का टेलीविजन चैनलों पर प्रसारण किया गया था।
   
अपनी याचिका में नित्यानंद ने कहा कि आईपीसी की धारा 182 के तहत लेनिन का आचरण अपराध है। नित्यानंद ने कहा कि उसने पुलिस जांच अधिकारियों को झूठी सूचना प्रदान की, जिसे वह जानते हैं और मानते हैं कि यह झूठी है और याचिकाकर्ता को क्षति पहुंचाने और कष्ट पहुंचाने की मंशा से किया गया।

इसलिए न्यायिक व्यवस्था और याचिकाकर्ता के साथ जो उसने गलत किया, उसके लिए अभियोग चलाए जाने का हकदार है। उन्होंने कहा कि इसलिए इन कृत्यों के लिए राज्य के अधिकारियों को उचित अभियोग चलाने की जरूरत है।
   
नित्यानंद ने दावा किया कि सीडी और कुछ नहीं बल्कि लेनिन ने अपने ज्ञात और अज्ञात सहयोगियों के साथ मिलकर इसे मनगढंत रूप से तैयार किया।

उन्होंने कहा कि लेनिन ने इन कथित दृश्यों को रिकार्ड किया और तीन मार्च 2010 को इसका प्रसारण जानबूझकर हिंदुओं और याचिककर्ता द्वारा शुरू किए गए धार्मिक संप्रदाय के समाज के विभिन्न श्रेणियों के अनुयायियों की धार्मिक भावना को भड़काने की गलत मंशा से किया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नित्यानंद ने पूर्व शिष्य पर अभियोग चलाने की मांग की