अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंजाब विश्वविद्यालय के परीक्षा परिणामों की घोषणा में देरी

उत्तर पुस्तिकाओं की जांच में हो रही देरी के कारण पंजाब विश्वविद्यालय के विभिन्न पाठ्यक्रमों के वार्षिक परीक्षा परिणामों की घोषणा के लिए निर्धारित तारीख को बढ़ाना पड़ा है। विश्वविद्यालय के कुलपति आर. सी. सोबती ने शिक्षकों से मूल्यांकन कार्य में तेजी लाने को कहा है। उन्होंने चेतावनी दी है कि ऐसा नहीं करने वाले शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

विश्वविद्यालय ने 2009-10 के शैक्षिक सत्र के सभी पाठ्यक्रमों के परीक्षा परिणामों की घोषणा के लिए 20 जून की समयसीमा निर्धारित की थी। बाद में विश्वविद्यालय ने इस समयसीमा को बढ़ाकर 30 जून कर दिया लेकिन तब भी कुछ पाठ्यक्रमों के परीक्षा परिणाम घोषित नहीं किए जा सके। विश्वविद्यालय को अभी यह घोषणा करना है कि सभी परीक्षा परिणाम कब तक घोषित होंगे।

सोबती ने 'पंजाब यूनीवर्सिटी टीचर्स एसोसिएशन' (पीयूटीए) से इस दिशा में तेजी से काम करने के लिए शिक्षकों पर दबाव बनाने को कहा है। सोबती ने कहा कि उन्होंने पीयूटीए के अध्यक्ष और सचिव से शिक्षकों पर मूल्यांकल जल्दी करने के लिए दबाव बनाने को कहा है। उन्होंने कहा कि जो शिक्षक ऐसा नहीं करेंगे उनके खिलाफ नियमों के मुताबिक कार्रवाई होगी।

पीयूटीए के अध्यक्ष मंजित सिंह ने कहा कि यह पीयूटीए की जिम्मेदारी नहीं है और वह इस मामले में दखल नहीं देंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंजाब विश्वविद्यालय के परीक्षा परिणामों की घोषणा में देरी