DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पानी के झरने बीच जायके के क्या कहने!

पानी के झरने बीच जायके के क्या कहने!

चाइनीज कुजीन हमारे भोजन में ऐसा रच-बस गया है कि अपना सा लगने लगा है। तिब्बती मोनेस्ट्री के आउटलेट्स का यह स्वाद नॉर्थ कैंपस के छात्रों की मार्फत दिल्ली में ऐसा फैला कि बच्चे हों या बुजुर्ग, महिलाएं हों या पुरुष सब इसके दीवाने हो गए। नॉर्थ इंडियन कुजीन के विकल्प के रूप में उभरे साउथ इंडियन डोसा और उत्तपम की होड़ चाउमीन व चॉप्सी से होने लगी। टू मिनट नूडल्स ने रही-सही कसर पूरी कर दी और घर-घर में इसने अपनी पैठ बना ली।

नतीजतन आज हर मल्टी कुजीन रेस्तरां के मेन्यू में चाइनीज सेक्शन जरूर नजर आता है। पर न जाने क्यों खालिस ऑथेंटिक चाइनीज रेस्तरां अब भी नाकाफी हैं। मॉयट्स, यो चाइना, जेन, बरकोस, चाइना फोर्ट.. और पांच सितारा होटल्स के रेस्तरां। फेहरिस्त कोई बहुत लंबी-चौड़ी नहीं। इसी गैप को पाटने के लिए पिछली मई से इस श्रृंखला में आ शामिल हुआ है वाउ यानी वोक ऑन वॉकर। कनॉट प्लेस के मशहूर ओडियन सिनेमा के पास इसका बसेरा है।

नाम के अनुरूप रेस्तरां की दीवारों पर झरने के अंदाज में बहता पानी नजर आता है। गर्मी की इस तपिश में ठंडक का अहसास। अंदर प्रवेश करते ही सुकून सा महसूस होता है। अंदर के एंबियांस में सॉफिस्टकेशन झलकता है। इंटीरियर में ब्राउन और ब्लैक हावी है। इंटीरियर डिजाइनर पुनीत ने रेस्तरां की यंग जनरेशन के माणिक के निर्देशन में इस पर काफी मेहनत की है। टीवी तकरीबन हर टेबल की हद में है। फीफा का रोमांच और मस्ती सबके करीब है। रेस्तरां दो तलों में बंटा है। बार का लाइसेंस मिलना अभी बाकी है। चारों ओर से खुदे पड़े कनॉट प्लेस का मेकओवर पूरा होने तक इसे भी गति मिल चुकी होगी। तभी रेस्तरां का शीशे का फ्रंट ज्यादा मुफीद साबित होगा।

हुक्का आज इंटीरियर की सबसे ट्रैंडी एक्सेसरी है। जनपथ के बाजार में इसकी भरमार है और दिल्ली हाट में भी। वाउ में भी यह हर टेबल पर मौजूद है। हुक्के के चाहने वाले यहां एप्पल या पान फ्लेवर गुड़गुड़ा सकते हैं। रेस्तरां के मैनेजर मुकेश ने बताया कि ‘काफी लोग इसे आजमाते हैं। उनके लिए यह नशे की नहीं, फैशन की चीज है। उनकी आदत में भी यह शुमार नहीं। वे तो बस नया अनुभव लेने के लिए इसे आजमाते हैं।’

किचन की मास्टर रेसिपीज रेस्तरां के मालिक नरेश कपूर के लंबे अनुभव का नतीजा हैं। नूडल बाउल और स्टिकी राइस बाउल/स्टीम्ड राइस बाउल यहां की स्पेशियलिटी है। यह कॉम्बो मील है यानी इसमें नूडल्स और राइस के ऑप्शन के साथ सॉस अलग से ऑर्डर करने की जरूरत नहीं।

इसके अलावा सूप्स में चिकन बर्न्ट गार्लिक सूप, एपिटाइजर्स में कॉर्न इन लैमन चिली, बाउल ऑफ नूडल्स इन सूप में सिलिकन टोफू विद ब्रोकोली एंड कैरट नूडल और स्टीम्ड/ पैन फ्राइड डम्पलिंग्स में चिकन विद सेवन स्पाइसेज रिपीट ऑर्डर करने लायक डिशेज हैं। नमकीन जायके के बाद डेजर्ट्स का स्वाद लेने के लिए वनिला आइसक्रीम के साथ फ्राइड लीचीज और चॉकलेट और वॉलनट नैम्स  खास हैं। रेस्तरां दोपहर 12 से रात 12 बजे तक खुला रहता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पानी के झरने बीच जायके के क्या कहने!