DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नौवीं कक्षा के लिए पुस्तकों का चयन: अप्रैल से इन्हचीं से होगी पढ़ाई

नौवीं कक्षा के लिए नए सिलेबस के तहत पुस्तकों का चयन कर लिया गया है। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने अभी 21 पुस्तकों की सूची तैयार की है। इसमें प्रमुख पत्र के साथ-साथ वैकल्पिक विषयों की सूची तैयार कर ली गई है। पुस्तकों की छपाई शुरू हो गयी है और अप्रैल से शुरू हो नए सत्र में छात्रों को इन्हीं पुस्तकों से पढ़ाई करनी होगी। समिति ने शिक्षा सुधार व राष्ट्रीय स्तर की शिक्षा प्रणाली को अपनाने के लिए पुस्तकों को भी राष्ट्रीय स्तर का स्वरूप देने का निर्णय लिया है। बिहार बोर्ड द्वारा मैट्रिक परीक्षा में पुस्तकें अभी तक पुरानी ही चल रही थीं।ड्ढr ड्ढr समिति द्वारा निर्णय लिया गया था कि दसवीं कक्षा से सिलेबस बदला जाएगा लेकिन बाद में नौवीं कक्षा का सिलेबस बदलने का निर्णय लिया गया। विज्ञान में भौतिकी, रसायनशास्त्र व जीव विज्ञान और गणित विषय की पुस्तकें एनसीईआरटी की पुस्तकों की कॉपी होंगी। वहीं सामाजिक विज्ञान में इतिहास की दुनिया, भारत भूमि एवं लोग और लोकतांत्रिक राजनीति का अध्ययन करना होगा। भाषा संकाय में छात्रों को हिंदी, अंग्रेजी व संस्कृत का अध्ययन करना होगा। हिंदी में छात्रों को 50 अंक राष्ट्रभाषा व 50 अंक मातृभाषा के रूप में रखने की छूट होगी।ड्ढr ड्ढr छात्रों को हिंदी में गोधूलि भाग एक, रवींद्रनाथ ठाकुर का चयनित संकलन कथा ओ कहानी, संस्कृत भाषा अनुपूरक भाग एक, संस्कृत भाषा पाठय़पुस्तक भाग एक, वर्णिका भाग एक, अंग्रेजी में पैनोरमा भाग एक और पैनोरमा इंगलिश रीडर (पूरक) पुस्तक उपलब्ध कराए जायेंगे। अर्थशास्त्र विषय में छात्रों को हमारी अर्थव्यवस्था भाग एक पुस्तक पढ़नी होगी। मातृभाषा के तहत बांग्ला में कौशिकी भाग एक, उर्दू में दरख्शॉ भाग एक व रौशनी भाग एक, अरबी में अज अजहरूल अरबिया भाग एक व नखबातुद दुरौरूल अरबिया भाग एक, फारसी में लालावागुल भाग एक व सिमाए अबद भाग एक, मैथिली में दूर्वाक्षत भाग एक और भोजपुरी में पान फूल भाग एक व महुआ भाग एक की पढ़ाई होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नौवीं कक्षा के लिए पुस्तकों का चयन: अप्रैल से इन्हचीं से होगी पढ़ाई