DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिटलर, ना बाबा ना

हिटलर, ना बाबा ना

अभिनेता अनुपम खेर अब हिटलर नहीं बनेंगे। यहूदी समूहों के विरोध को देखते हुए अनुपम ने फिल्म डियर फ्रेंड हिटलर में हिटलर की भूमिका से हाथ खींच लिया है। उनका कहना है कि उनके प्रशंसक इस फिल्म की थीम से खुश नहीं हैं, लेकिन फिल्म निर्माताओं को उम्मीद है कि वे हिटलर की भूमिका निभाने के लिए फिर से विचार करेंगे और मान जाएंगे।

गौरतलब है कि राजेश रंजन कुमार द्वारा निर्देशित और अनिल कुमार शर्मा व नलिन सिंह द्वारा निर्मित इस फिल्म में अनुपम खेर को हिटलर की भूमिका अदा करनी थी, जिसे लेकर पिछले दिनों काफी जोर शोर से उनके रोल के बारे में घोषणा भी की गयी थी। फिल्म आगे बढ़ती या इस दिशा में कोई कार्य शुरु हो पाता इससे पहले अनुपम ने ना में सिर हिलाकर फिल्म को टा टा बोल दिया।
 
इस बारे में अनुपम कहते हैं, जब मैंने फिल्म साइन की थी तब मुझे उम्मीद नहीं थी कि इससे लोग इतने नाराज हो जाएंगे। जिस तरह फिल्म के निर्देशक राकेश रंजन कुमार और निर्माता मीडिया में फिल्म को लेकर भ्रम पैदा कर रहे हैं उससे भी मैं खुश नहीं हूं। यह फिल्म हिटलर के व्यक्तित्व और इवा ब्राउन के साथ उसके रिश्ते की कहानी है। निर्देशक का कहना है कि फिल्म के बारे में विदेशी मीडिया द्वारा दुष्प्रचार किया जा रहा है। बताया जाता है कि फिल्म का शीर्षक द्वितीय विश्व युद्ध से पहले महात्मा गांधी द्वारा हिटलर को लिखे दो पत्रों में उन्हें दिए गए संबोधन डियर फ्रेंड हिटलर पर आधारित है। पत्र में गांधी ने हिटलर से विश्व युद्ध शुरू न करने का आग्रह किया है। फिल्म की लांचिंग को अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने कवर किया था और इसके बाद भारत और विदेश में यहूदी समुदाय की कड़ी प्रतिक्रिया सामने आयी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हिटलर, ना बाबा ना