घाटकुरी पर पुनर्विचार के लिए फाइल राजभवन भेजी - घाटकुरी पर पुनर्विचार के लिए फाइल राजभवन भेजी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घाटकुरी पर पुनर्विचार के लिए फाइल राजभवन भेजी

सचिव सत्पथी ने आवंटन अनुशंसा रद्द करने का प्रस्ताव बढ़ायाबहुचर्चित आरक्षित घाटकुरी आयरन ओर माइंस के आवंटन अनुशंसा पर पुनर्विचार के लिए फाइल राजभवन भेज दी गयी।ड्ढr गुरुवार को खान एवं भूतत्व सचिव संतोष कुमार सत्पथी ने अपनी टिप्पणी में लिखा है कि यह माइंस सार्वजनिक क्षेत्र की राज्य की कंपनियों के लिए आरक्षित है। सामान्य परिस्थिति में कैबिनेट से आरक्षण को प्रतिबंध हटाये और नये सिर से गजट नोटिफिकेशन के बगैर निजी क्षेत्र की कंपनियों को इसे आवंटित नहीं किया जा सकता। इस पर पूर्व सीएम शिबू सोरन की मंजूरी है, इसलिए इसे रद्द करने अथवा बहाल रखने पर राज्यपाल द्वारा ही निर्णय लिया सकता है।ड्ढr घाटकुरी मांइस को पेसू के लिए 1में गजट नोटिफिकेशन कर आरक्षित किया गया था। 2005 में तत्कालीन खान निदेशक ने नौ निजी कंपनियों के पक्ष में आवंटन की अुनशंसा केंद्र के पास पूर्वानुमति के लिए भेज दी थी। केंद्र सरकार ने आरक्षित रहने के कारण राज्य सरकार से जब सवाल उठाया, तब तत्कालीन खान सचिव अरुण कुमार सिंह ने इस प्रस्ताव को वापस मंगा लिया। इसके बाद आवंटन का लाभ पाने वाली कंपनियां मोनेट इस्पात, झारखंड इस्पात, प्रकाश इस्पात, आधुनिक एलाय, अभिजीत इंफ्रास्ट्रक्चर ने झारखंड हाइकोर्ट में याचिका दायर की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: घाटकुरी पर पुनर्विचार के लिए फाइल राजभवन भेजी