अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धूम्रपान से बच्चे होते ज्यादा प्रभावित

धूम्रपान का दुष्प्रभाव पूर परिवार पर पड़ता है। घर के छोटे बच्चे उससे सर्वाधिक प्रभावित होते हैं। तम्बाकू से बनी वस्तुओं का त्याग करने से कई प्रकार की बीमारियों से निजात मिलती है। जे.डी.वीमेन्स कॉलेज में गुरुवार को आयोजित नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच व जागरूकता शिविर में विशेषज्ञों ने बताया कि महिलाओं में गर्भाशय के मुख और स्तन के कैंसर रोगियों की संख्या सर्वाधिक है। दोनों प्रकार के कैंसर रोगों का इलाज संभव है बशर्ते कि उसका शुरुआती दौर में जांच से पता कर इलाज किया जाए।ड्ढr ड्ढr महावीर कैंसर संस्थान के निदेशक डा.जितेन्द्र कुमार सिंह ने कहा कि बिहार में कैंसर के मरीज एडवांस स्थिति में जांच व इलाज कराने आते हैं। उन्होंने कहा कि गर्भाशय के मुख के कैंसर की रोकथाम की वैक्सीन आ गयी है। शिविर में कॉलेज की 435 छात्राएं शामिल हुईं। स्वास्थ्य जांच के बाद छात्राओं को मुफ्त दवाइयां दी गयीं। इस मौके पर कॉलेज की उप प्राचार्या डा.जया मुखर्जी और एनएसएस की प्रभारी प्राध्यापिका डा.मधु मौजूद थीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: धूम्रपान से बच्चे होते ज्यादा प्रभावित