अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बस की छत पर बैठे तो जुर्माना

बस की छत पर सवारी, अब पड़ेगी भारी। बसों की छत पर बैठे पकड़े जाने पर यात्री से 100 से 500 रुपये के बीच जुर्माना वसूला जायेगा। ओवरलोडिंग रोकने के लिए पहली बार बस ऑपरटरों के साथ यात्रियों को भी कानून के घेर में लाया जा रहा है। परिवहन विभाग ने राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, पश्चिम बंगाल और दिल्ली की कर प्रणाली का अध्ययन कराया है। अब बसों में ओवरलोडिंग रोकने के लिए पश्चिम बंगाल में लागू फामरूला अपनाने की तैयारी शुरू कर दी गई है।ड्ढr ड्ढr क्षमता से अधिक यात्री रहने पर बस मालिक से प्रति सीट 50 से 100 रुपये के बीच जुर्माना वसूला जायेगा। जुर्माने की राशि अप्रैल तक तय हो जाने का अनुमान है। सड़कों पर बिजली के तार और पेड़ की डाल से यात्रियों की जान पर खतरा बना रहता है। इसके बावजूद बिहार में बस की छतों पर सफर करना आम समस्या है। निजी ऑपरटरों के एजेंट अक्सर गरीब यात्रियों को छत पर चढ़ाने के लिए कम किराये का लालच देते हैं। परिवहन विभाग भी मानता है कि ओवरलोडिंग की वजह से ही सड़क हादसों में कमी नहीं आ रही है। सड़क दुर्घटनाओं में हर साल कम से कम 1500 मौतें होती है जबकि औसतन 5000 लोग आंशिक अथवा गंभीर रूप से घायल हो जाते हैं। हालांकि प्रवर्तन पदाधिकारी वाहनों में क्षमता से अधिक यात्री या बस की छत पर सफर से रोकने के लिए शायद ही कभी कार्रवाई करते हैं। परिवहन सचिव सुनील बर्थवाल कहते हैं कि यात्रियों को छत पर सफर करने से रोकने के लिए पूर राज्य में अभियान चलाने के निर्देश दिये गये हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बस की छत पर बैठे तो जुर्माना