अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ 22 से

मातृमंदिर,श्रीअरविंद सोसाइटी, हेसल में श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ 22 फरवरी से शुरू होगा। इसमें हरिकथा मर्मज्ञ पंडित श्यामनारायण दुबे निभाईाी कथामृत की सरिता बहायेंगे। कृष्ण मोहन सहाय सपत्नीक ज्ञानयज्ञ में मुख्य यजमान के रूप में हिस्सा लेंगे। यह आयोजन सनातन धर्म सेवा न्यास कर रहा है। कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए 51 सदस्यीय समिति का गठन किया गया है। शुक्रवार को विहिप के विरंद्र विमल ने पत्रकारों को बताया कि पहले दिन सुबह कलश यात्रा निकाली जायेगी। इसमें बड़ी संख्या में महिलाएं और श्रद्धालु हिस्सा लेंगे। संरक्षक मंडल के उदयशंकर ओझा ने बताया कि वर्तमान समय में पाश्चात्य संस्कृति हावी होती जा रही है। इससे भारतीय समाज और संस्कृति का भी तेजी से ह्रास हो रहा है। ऐसे में इस तरह के आयोजन जरूरी हो जाते हैं। इसी भाव से यहां ज्ञान-यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। डॉ एसएन चौधरी ने बताया कि मानव जीवन का लक्ष्य सिर्फ कमाओ-खाओ नहीं, बल्कि इससे अलग हट कर आत्मिक विकास के बार में सोचना भी है, ताकि यही लोक और परलोक दोनों सुधर। श्रीमद्भागवत कथा में सफल जीवन का सार छुपा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ 22 से