अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हॉकी : भारत हॉलेंड से खेलेगा फाइनल

भारत के पंजाब गोल्ड कप हॉकी के फाइनल में पहुंचने का फैसला तो हॉलैंड और जर्मनी मैच के रिाल्ट से ही हो गया था। ओलंपिक चैंपियन जर्मनी शुक्रवार को भारत के खिलाफ जिस रफ्तार से खेली थी उसकी वह रफ्तार आज यूरोपीय चैंपियन हॉलैंड के खिलाफ नदारद थी। यही कारण था कि हॉलैंड की टीम ने जर्मनी को 7-1 से करारी शिकस्त दे भारत को फाइनल का टिकट दिला दिया। भारत ने भी फाइनल की सीट पक्की होने के बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम के रिार्व खिलाड़ियों गोलकीपर एड्रियन डिसूजा और टी. रघुनाथ को मौका दिया। टीम न्यूजीलैंड से 3-2 से जीतने में सफल रही। भारतीय जीत के हीरो रहे राजपाल सिंह जिन्होंने दो गोल किए जबकि एक गोल इग्नेस तिर्की की स्टिक से निकला। भारतीय टीम शुरू से ही आक्रामक खेली। शुरू से ही भारत ने विपक्षी गोलमुख पर धावा बोल दिया था। भारत के लिए पहला गोल छठे मिनट में राजपाल की स्टिक से निकला। संदीप सिंह की फ्री हिट पर राजपाल ने गोल लाइन के पास से गेंद को गोलपोस्ट में दिशा दी। हाफ टाइम से लगभग 8 मिनट पहले एस.वी. सुनील ने एक गोल्डन चांस उस समय गंवाया जब दाएं छोर से तुषार खांडकर के क्रास पर वह गेंद ठीक से जज नहीं कर सके। मध्यांतर तक भारतीय टीम एक गोल से आगे थी। दूसर हाफ में न्यूजीलैंड टीम पहले से ज्यादा आक्रामक नजर आई। पांच मिनट में ही उसने बराबरी का गोल दाग दिया। निकोलस विल्सन ने यह गोल किया। गोलकीपर एंड्रियन आगे निकले और डिफेंस में संदीप अकेले पड़ गए। निकोलस ने उन्हें आसानी से चकमा दे टीम को बराबरी पर ला दिया। जर्मनी के खिलाफ मैच की तरह भारत का डिफेंस आज भी काफी कुछ एक्सपोज हुआ। हां, क्योंकि भारत जीत गया इसलिए इस पर ज्यादा उंगलियां नहीं उठेंगी लेकिन फाइनल में हॉलैंड के खिलाफ भारत को अपने डिफेंस को और मजबूत करना होगा। 55वें मिनट में एस.वी. सुनील से दाएं छोर से मिले क्रॉस पर राजपाल एक बार फिर मुस्तैद नजर आए। न्यूजीलैंड के डिफेंडर आगे निकल आए थे और राजपाल ने गोलकीपर को डॉज देने में कोई गलती नहीं की। भारत एक बार फिर 2-1 से आगे हो गया। न्यूजीलैंड भी हार मानने को तैयार नहीं थी। 64वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर पैट्रिक ने टीम को एक बार फिर बराबरी पर ला दिया। फाइनल हूटर बजने से तीन मिनट पहले भारत की किस्मत जागी और इग्नेस टिर्की का रिवर्स हिट पर लगाया दनदनाता शॉट तख्ता बजा गया। राजपाल सिंह को मैन ऑफ द मैच चुना गया। इससे पहले हॉलैंड की जीत में जॉली वाउटर, येरॉन हट्र्जबर्गर ने दो-दो जबकि कोंस्टेंटिन, रोबर्ट और लुकास जज ने एक-एक गोल किया। जर्मनी की ओर से एकमात्र गोल क्रिस्टोफर ने किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हॉकी : भारत हॉलेंड से खेलेगा फाइनल