अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना सिटी में टेम्पो चालक को जिंदा फूंका

पहले टेम्पो चालक तब्बू उर्फ आफताब को दो दिनों तक घर में कैद करके यातनाएं दी और फिर जिंदा फूंकने की कोशिश की। रविवार की सुबह गंभीर स्थिति में तब्बू अपने घर पहुंचा। तब परिजनों ने उसे एनएमसीएच में भर्ती कराया जहां वह जीवन और मौत के बीच संघर्ष कर रहा है। डॉक्टरों के मुताबिक तब्बू 50 प्रतिशत जल चुका है। इस घटना को तब्बू के टेम्पो मालिक व पड़ोसी सुशील कुमार उर्फ मुन्ना व उसके भाई शैलेश कुमार उर्फ बच्चू और कालिया (टेम्पो चालक) ने अंजाम दिया।ड्ढr ड्ढr बहरहाल पीड़ित के बयान पर पुलिस ने मुन्ना व बच्चू को गिरफ्तार कर लिया है। तब्बू ने बताया कि बीते बुधवार को पश्चिम दरबाजा से तीन युवकों को रिजर्व में टेम्पो से सिपारा लेकर गया था। वहां तीनों के साथ उसने शराब पी जिसके बाद वह बेहोश हो गया। होश आने पर टेम्पो गायब देखा। तब उसने इसकी सूचना टेम्पो मालिक को दी। गुरुवार को थाना में प्राथमिकी दर्ज कराने के बहाने टेम्पो मालिक उसे अपने घर ले गया। इसके बाद छत पर पाया से बांध कर दो दिनों तक पिटाई करते रहा। टेम्पो के बदले उसने पांच हजार रुपए मांगे और इनकार करने पर उसके शरीर पर तेल छिड़क कर आग लगा दी। थानाध्यक्ष बच्चा सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। दूसरी ओर मुन्ना का तब्बू पर टेम्पो बेच देने का आरोप है। उसने मारपीट से इनकार किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पटना सिटी में टेम्पो चालक को जिंदा फूंका