राजरंग - राजरंग DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजरंग

सोचने का नहीं, काम करने का..ड्ढr राष्ट्रपति शासन है। इस शासन में सोचने का नहीं, काम करने का है। सोचने का काम तो सरकार करती है। जबतक सरकार नहीं, तबतक सोचने का नहीं है। सिर्फ काम कर दिखाने का है। भगवान कृष्ण भी यही कह गये हैं कि कर्म करो, फल की चिंता मत करो। अभी भी कृष्ण के संदेशों को दुहराया जा रहा है। संदेश देनेवाले साहब भी उसी नाम के अनुरूप हैं। हर मीटिंग में यही बात दोहरायी जा रही है। आठ साल से सोचते-सोचते क्या किया, यह तो जगजाहिर है। सोचनेवाला करता नहीं, करनेवाला सोचता नहीं। कर्म किये जा, फल की चिंता मत करो। इसी संकल्प के साथ काम करना है। अधिकारी भी इन बातों को सुनकर हैरान हैं, कि कैसे अधिकारी से पाला पड़ा गया र भाई। आज तक इतना बोल्ड तो कोई था ही नहीं। यहां तो सिस्टम हो गया है डू और डाई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजरंग