अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्मचारी पहुंचे, अफसर कैबिनेट में

पूरे 34 दिनों के बाद सचिवालय के गलियारों में एक बार फिर चहल-पहल शुरू हो गई। हड़ताल खत्म होने के बाद कर्मचारियों ने मंगलवार को आकर अपनी फाइलें संभालीं और काम-काज शुरू किया। हड़ताल के कारण गांव-घर चले गए कर्मचारी भी लौट आए थे। लेकिन इस बार सचिवालय से अफसर गायब थे। अधिकतर अफसर बेगूसराय जिले के बरबिघी गांव में आयोजित मंत्रिमंडल की बैठक में भाग लेने रवाना हुए थे। मुख्य सचिवालय के प्रथम तल्ले पर वित्त विभाग के प्रधान सचिव नवीन कुमार और नीचे संसदीय कार्य विभाग के प्रधान सचिव पंचम लाल अपने कक्ष में काम करते दिखाई पड़े।ड्ढr ड्ढr इधर अहले सुबह मंत्रियों और अफसरों का काफिला बेगूसराय के लिए रवाना हुआ। इसमें मुख्य सचिव आर.ो.एम. पिल्लै, कैबिनेट विभाग के प्रधान सचिव गिरीश शंकर, गृह विभाग के प्रधान सचिव अफाल अमानुल्लाह, सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के प्रधान सचिव राजेश भूषण, ऊरा विभाग के प्रधान सचिव सी.के. मिश्रा, नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव दीपक कुमार, ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव अनूप मुखर्जी, उत्पाद विभाग से एन. विजयलक्ष्मी, पर्यटन विभाग से रश्मि वर्मा, कला एवं संस्कृति विभाग के सचिव विवेक सिंह, स्वास्थ्य विभाग से भानु प्रताप शर्मा और कार्मिक सचिव आमिर सुबहानी समेत दर्जनों अफसर शामिल थे।ड्ढr ड्ढr अपने वाहन से वहां पहुंचने की अनुमति किसी को नहीं थी। सभी लोगों के लिए राज्य सरकार की ओर से शानदार बस की व्यवस्था की गई थी। वातानुकूलित बस में सभी आधुनिक सुविधायें मौजूद थीं। मंत्रियों और अफसरों को लेकर मुख्य सचिवालय से तीन बसें खुली थीं। एक में सभी मंत्री, दूसर में अफसर और तीसर में मंत्रियों के स्टाफ बैठे हुए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कर्मचारी पहुंचे, अफसर कैबिनेट में